कल होगा साल का पहला सूर्य ग्रहण, जानें क्या बरते सावधानी

0
65

नई दिल्ली : वर्ष 2018 का पहला आंशिक सूर्यग्रहण 15 फरवरी यानी कल दिखाई देगा। ये ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। यह ग्रहण दक्षिणी अमेरिका उरुग्वे और ब्राजील में देखा जाएगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माना जा रहा है कि इस वर्ष 3 सूर्य ग्रहण होने जा रहे हैं। इसके बाद 11 अगस्त 2018 को सूर्य ग्रहण होगा लेकिन वो भी भारत में देखा नहीं जा पाएगा।

बिना सुरक्षा उपाय के न देखे सूर्यग्रहण

खगोलीय शास्त्र के अनुसार आंशिक सूर्यग्रहण हर 6 माह में होता है लेकिन पूर्ण ग्रहण विशेष खगोलीय घटना के कारण ही देखने को मिलता है। पूर्ण सूर्य ग्रहण 21 अगस्त 2017 को देखने को मिला था। इसके पहले आंशिक सूर्यग्रहण 13 सितंबर, 2015 को हुआ था। इसी के साथ माना जाता है कि इस सूर्यग्रहण को नंगी आंखों से देखना खतरनाक है। वैज्ञानिकों का कहना है कि बिना सुरक्षा उपाय किए सूर्यग्रहण देखने से आंखों की रोशनी तात्कालिक या स्थाई रूप से भी जा सकती है। साथ ही, यह दिमाग के नर्व्स पर भी बुरा असर डाल सकता है।

दो घंटे तक रहेगा ये ग्रहण

सूर्य ग्रहण की घटना तब घटित होती है जब चंद्रमा, सूर्य और पृथ्वी एक सीधी रेखा में आ जाते हैं। आंशिक सूर्य ग्रहण में पृथ्वी और सूर्य पूर्ण रूप से सीधी रेखा में नहीं आते हैं, जिससे चंद्रमा सूर्य को पूरी तरह से ढ़क नहीं पाता है। पूर्ण सूर्य ग्रहण में चंद्रमा सूर्य को पूरी तरह से ढक देता है जिससे सूर्य की रौशनी पृथ्वी तक नहीं पहुंच पाती है। इस 15 फरवरी को दक्षिण अमेरिका और अंटार्कटिका आंशिक सूर्यग्रहण को देख पाएंगे। रिपोर्ट के अनुसार आंशिक ग्रहण करीब दो घंटे तक रहेगा। अंटार्कटिक में शाम 5 बजकर 43 मिनट से ग्रहण दिखाई देना शुरु होगा और शाम 7 बजकर 34 मिनट तक रहेगा।

इस साल दो और सूर्यग्रहण होंगे

साल 2018 में दो ओर सूर्य ग्रहण दिखाई देंगें। जिसमें से पहला 13 जुलाई और दूसरा 11 अगस्त को दिखाई देगा। 13 जुलाई को आंशिक ग्रहण आस्ट्रेलिया और अंटार्कटिका में दिखाई देगा और 11 अगस्त को उत्तरी ध्रुव, उत्तरी यूरोप और पूर्वी एशिया के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा। भारत इन तीनों ही आंशिक ग्रहण का ग्वाह नहीं बन पाएगा। यह ग्रहण भारतीय समय के मुताबिक, 15 फरवरी को रात 12.25 पर शुरू होगा और सुबह चार बजे तक चलेगा। ज्योतिषियों का मानना है कि इसके कुछ बुरे प्रभाव सामने आ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here