कानपुर:-आईपीएल मैचों में सट्टा लगाते लैंडमार्क होटल से तीन गिरफ्तार…

0
4157

सट्टेबाजी का खुलासा करते एसएसपी व हिरासत में सटोरियें

बरामद रकम
-मूलतः गुजरात निवासी मास्टर माइंड लैंडमार्क होटल की 17वीं मंजिल से गया पकड़ा
-क्राइम ब्रांच की टीम के हाथ लगे पांच लाख से अधिक कैश के साथ अहम डायरी
कानपुर। ग्र्रीन पार्क स्टेडियम में खेले जा रहे आईपीएल मैचों में करोड़ों का सट्टा लगाया गया था। जिस होटल लैंडमार्क में टीमें रूकी हैं, उसमें ही रूककर सटोरिये द्वारा सट्टेबाजी की पूरी बिसात बिछाई गई थी। क्राइम ब्रांच की टीम ने छापा मारकर होटल के कमरे से मास्टर माइंड के साथ तीन सटोरियों को रंगे हाथों पकड़ा है। मास्टर माइंड मूलतः गुजरात का रहने वाला है, जबकि अन्य दोनों में एक ग्रीन पार्क स्टेडियम का पिच कर्मचारी है। इस पूरी कार्रवाई के पीछे बीसीसीआई की विजिलेंस टीम की सूचना पर अंजाम दिए जाने की बात सामने आ रही है।
कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में गुजरात लायंस और दिल्ली डेयरडेविल्स के बीच खेले गए मैच में करोड़ों का सट्टा बुक किया गया था। सट्टेबाजी की हरकत पर नजर रख रही बीसीसीआई की विजिलेंस टीम इस पर कई दिनों से नजर रख रही थी। गुरूवार को विजिलेंस टीम ने होटल में रूके एक सटोरिये की जानकारी कानपुर पुलिस को दी। सूचना के आधार पर एसएसपी आकाश कुलहरि ने बेहद गोपनीयता के साथ कार्रवाई के लिए कदम बढ़ाते हुए अफसरों के साथ क्राइम ब्रांच टीम को लेकर होटल लैंडमार्क की 17वीं मंजिल के कमरा नम्बर 1733 में छापा मारा। मौके से टीम ने सट्टा बुकी मूलरूप से गुजराज व हाल पता मुम्बई के ठाणे इलाके में रहने वाले नयन रमेश शाह को 4.30 लाख की नकदी के साथ गिरफ्तार कर लिया। उसके साथी कानपुर देहात के पुखराया स्थित अम्बेडकर नगर निवासी विकास चौहान को भी क्राइम ब्रांच टीम ने पकड़ा। उसके कब्जे से भी 40 हजार की नगदी व मोबाइल तलाशी के दौरान मिलें। पूछतांछ में दोनों ने ग्रीन पार्क स्टेडियम में पिच कर्मचारी चुन्नीगंज निवासी रमेश कुमार के सट्टे व पिच का मिजाज बताने का खुलासा हुआ। जिसके बाद टीम ने पिच कर्मचारी को भी धर दबोचा। उसके कब्जे से 20 हजार की नगदी बरामद की गई है।
ऐसे हार-जीत पर लगाते थे सट्टा
एसएसपी आकाश कुलहरि ने पुलिस लाइन में आईपीएल मैच में सट्टेबाजी का खुलासा करते हुए बताया कि पूछतांछ में मास्टर माइंड नयन रमेश शाह ने जानकारी दी कि वह पिच कर्मचारी रमेश से वह मैच से पूर्व मिजाज के बारे में पता करते थे। पिच के बल्लेबाजी या गेंदबाजों के लिए मद्दगार है। जिसके आधार पर पिच कर्मी यह भी अनुमानित कर देता था कि स्कोर क्या होगा। जिसके बाद मास्टर माइंड टीमों की हार-जीत पर सट्टा बुक कर लेते थे।
अमजेर का बंटी पकड़ से दूर
एसएसपी ने बताया कि सटोरियों से पूछतांछ में एक बंटी नाम का शख्स सामने आया है। जो मास्टर माइंड के सम्पर्क में रहता था। पिच का मिजाज और हार-जीत पर सट्टा बुक कर भाव देने का काम बंटी करता था। बंटी के अजमेर का रहने वाला बताया गया है। जिसकी गिरफ्तारी के लिए टीम रवाना कर दी गई है।
होटल का रूम व कंट्रोल रूम सील
आईपीएल मैचों में सट्टेबाजी का साया व कानपुर से तीन सटोरियों की गिरफ्तारी के बाद एसएसपी ने होटल का रूम, कॉमन हॉल व सीसीटीवी कंट्रोल रूम को कब्जे में लेते हुए सील कर दिया गया है। एसएसपी ने बताया कि सील रूमों को जांच के दायरे में लाकर छानबीन की जाएगी। जांच में किन हालातों में होटल मैनेजमेंट द्वारा पकड़े गए सटोरिये नयन रमेश शाह को जहां टीम रूकी थी, वहां रूकने के लिए रूम क्यों दिया गया।

LEAVE A REPLY