​कानपुर (अपराध): पूरी सड़क थी खून से लाल देखने वालो की कॉप गयी रूह

0
1314

:– पुलिस की बड़ी चूक बनी हत्या की वजह 
कानपुर : शहर में क्राइम ग्राफ इस तरह बढ़ता जा रहा है कि अब मर्डर जैसी घटनाएं सरेशाम पब्लिक के सामने होने लगी है या यूं कह ले कि अपराधी अब फिल्मी स्टाइल में अपराध करते हुए फरार हो जाता है और लोग उनके द्वारा लिखी हुई जुर्म की इबारत  को घरों के अंदर से देखते रहते है .

क्या है मामला
कल देर शाम रायपुरवा थानाक्षेत्र के लक्ष्मीपुरवा इलाके में सबके सामने एक युवक को चार – पांच हमलावरों ने दौड़ा-दौड़ाकर चापड़ से काट डाला और दर्दनाक हत्या के बाद सड़क खून से लाल हो गयी उधर बेखौफ हमलावर चापड़ लहराते हुए भाग निकले .हत्या की सूचना पर एसएसपी समेत पुलिस के कई आलाअधिकारी व फारेंसिक टीम मौके पर पहुंची और हत्यारों की तलाश में जुट गई हत्या की वजह  किरायेदारी का विवाद बतायी जा रही है .
लक्ष्मीपुरवा शिवकुमार के घर के एक कमरे में  मदन का कब्जा है जिसको लेकर शिवकुमार और मदन में कई बार कहासुनी भी हुई है मदन का बेटा आशीष (22) एक या दो दिन में लक्ष्मीपुरवा वाले घर मे जाता था कल शाम वो वहीं पर था आरोप है कि शिवकुमार ,उनके बेटे ओमप्रकाश, दिलीप व छोटू से आशीष से कहासुनी होने लगी.

इसी बीच और चारों ने आशीष को चापड़ लेकर दौड़ा लिया जान बचाकर आशीष तंग गलियों में भागता रहा तमाशबीन बने लोगों से अपनी जान की भीख मांगता रहा लेकिन कोई नही उसकी सहायता के लिए नही आया फिल्मी शूटिंग की तरह लोग उसका मर्डर देखते रहे और देखते ही देखते चापड़ से कई वार करते हुए हमलावरों ने उसे मौत की नींद सुला दिया .

पुलिस के पास पहुंचा था मृतक
बीते कुछ दिनों पहले आशीष मकान मालिक से खुद की जान का खतरा बताते हुए पुलिस के पास पहुंचा था जहां पर उससे एप्लिकेशन तो ली गयी लेकिन कोई कार्यवाही नही हुई और पुलिस की लापरवाही से आशीष को मौत के मुहं में जाना पड़ा .

घटनास्थल पर पहुंची एसएसपी 
सरेशाम हुई हत्या के बाद एसएसपी सोनिया सिंह मौके पर पहुंची तो मृतक का पिता उनके पैरों में गिर पड़ा और बताया कि एक हफ्ते पहले उनका बेटा अपनी जान का खतरा बताकर रायपुरवा में तहरीर देने गया था लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नही की और उनका बेटा आज मौत की नींद सो गया है उधर एसएसपी ने कार्यवाही करने का अस्वाशन देते हुए जांच के आदेश दिए है .

LEAVE A REPLY