कानपुर : हार को जीत में बदलने वाले को कहते हैं खिलाड़ी : पुलिस अधीक्षक

0
106

कानपुर, 30 दिसम्बर । खेल में हार जीत तो होती ही रहती है, पर जो हार को जीत में बदल दे वहीं असली खिलाड़ी साबित होता है। जीवन में हार जीत हमारे द्वारा बनाये गए प्रतिमान है यह केवल रिलेटिव ट्रांस है और अल्टरनेटिव ट्रांस हैं। हमें निरंतर तब तक चलते रहना चाहिए जब तक मौत न आ जाये। यह बात दक्षिण पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार वर्मा ने स्कूल के बच्चों को संबोधित करते हुए कही। 

ब्रह्मानंद कालेज में शनिवार को वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन क्राइस्टचर्च कालेज ग्राउंड फूलबाग़ में हुआ। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि कालेज के प्राचार्य विवेक द्विवेदी और विशिष्ट अतिथि एसपी दक्षिण अशोक कुमार वर्मा ने खेल कूद प्रतियोगिता में 100 मीटर 200 मीटर 800 व 1500 मीटर रेस तथा शार्ट जम्प, पुट्स लॉंन्ग जम्प में विजयी प्रतिभागियों को ट्रॉफी देकर सम्मानित किया। इस खेल कूद प्रतियोगिता के संयोजक लेफ्टिनेंट अंजन कुमार ने बताया की इस वार्षिक खेल कूद प्रतोयोगिता में कुल 150 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। सभी प्रतियोगिताओं में सम्मलित होकर प्रथम पुरस्कार पुरुष प्रतिभागियों में आकाश त्रिपाठी व महिला प्रतिभागियों धन्नू तिवारी को प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया। 
इस अवसर पर एसपी दक्षिण अशोक कुमार वर्मा ने सभी प्रतिभागियों को जीवन में सफलता की सीख देते हुए कहा की जीवन में हार जीत हमारे द्वारा बनाये गए प्रतिमान है। यह केवल रिलेटिव ट्रांस है और अलटरनेटिव ट्रांस हैं, मैदान में गिरकर फिर से उठने वाले को ही अस्सली खिलाडी कहा जाता है हमेसा याद रखिये कि खेल के मैदान में गिर कर जो उठता है खिलाडी कहलाता है। हमें निरंतर तब तक चलते रहना चाहिए जब तक मौत न आ जाये। इस मौके पर कालेज प्रबंधन के साथ डा. नवनीत मिश्रा, डा. वी.एस. त्रिपाठी, वीके कटियार, डा. रश्मि पाठक, मनोज पांडेय, डा. जया मिश्रा, बृजेश वर्मा, शरद शुक्ल आदि मौजूद रहें।

LEAVE A REPLY