कानपुर :  बिल्हौर में बाइक सवार बदमाशों ने पत्रकार पर बरसाईं ताबड़तोड़ गोलियां ,मौत 

0
352

कानपुर, 30 नवम्बर । नगर निकाय चुनाव के मतदान से एक दिन पूर्व जनपद हुई हत्या का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। जिसके चलते मतगणना के एक दिन पूर्व पत्रकार की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इन 10 दिनों में जनपद में 10 हत्याएं हो चुकी है। जिससे शहरवासियों में खौफ का साया बन गया। तो वहीं पत्रकार की हत्या की जानकारी मिलते ही पत्रकारों ने भी रोष व्यक्त किया। 

नगर निकाय चुनाव के मतदान से एक सप्ताह पूर्व व बाद अममून चौराहों व गलियों में चुनावी माहौल गर्म रहता है। लोग हार जीत की गणित मतगणना तक लगाते रहते हैं। लेकिन इस बार लगातार हो रही हत्याओं के चलते चुनावी चर्चा से अधिक शहरवासी बढ़ते अपराध को लेकर चर्चा करते देखे जा रहे हैं। हो भी क्यों न जब दस दिनों में जनपद में दस हत्याएं हो गई हों। जिसकी शुरूआत मतदान के एक दिन पूर्व चुनाव ड्यूटी में जा रहा रोड़वेज चालक की निर्मम हत्या कर दी गई। इसके बाद से तो स्थित यह आ गई कि औसत एक दिन में एक हत्या हो रही है। पिछले नौ दिनों में जनपद में नौ हत्याएं हो चुकी है और दसवें दिन भी यह क्रम जारी रहा। 


दसवें दिन यानी गुरूवार को बिल्हौर में एक प्रतिष्ठित दैनिक समाचार पत्र के पत्रकार नवीन की कोतवाली के नगर पालिका के पास सरेशाम अज्ञात बाइक सवार बदमाशों ने गोली मार दी। जिससे बुरी तरह पत्रकार घायल हो गया और अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। क्षेत्र में तनाव को देखते हुए सीओ सुबोध जायसवाल व एसडीएम विनीत कुमार मौके पर पहुंच गये। साथ ही पत्रकार का मामला देख एसपी ग्रामीण जेपी सिंह व एसएसपी अखिलेश कुमार मीणा भी घटना स्थल के लिए रवाना हो गये। सीओ सुबोध जायसवाल से जब घटना के विषय में पूछा गया तो हकलाने लगे और कहा मैं मौके पर हूं अभी हत्यारों के विषय में कोई जानकारी नहीं है।


पत्रकारों में रोष
कानपुर प्रेस क्लब के अध्यक्ष अवनीश दीक्षित ने कहा कि कानपुर में अपराधी बेलगाम हो गये हैं और सरकार जुमलेबाजी कर यह कह रही है कि अपराधी प्रदेश से पलायन कर रहे हैं। महामंत्री कुशाग्र पाण्डेय ने कहा कि जब पत्रकार सुरक्षित नहीं है तो आम लोगों की पुलिस क्या सुरक्षा कर लेगी। यह लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला है, इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उपाध्यक्ष नीरज अवस्थी ने कहा कि यह दुखद घटना है, सभी पत्रकार एसएसपी से सुरक्षा की मांग करेंगे। रोष व्यक्त करने के दौरान अभिलाष बाजपेई, सुनील साहू, मनोज यादव, अंकित शुक्ला, अनुज शुक्ला, मोहित वर्मा, चंदन जायसवाल, इब्ने हसन जैदी, हनुमंत सिंह, लालू सिंह चौहान, अभिनव श्रीवास्तव, अमन तिवारी, दीपक सिंह, अमित यादव, मो. महमूद, मार्शल आदि मौजूद रहें। 

इन दिनों हुईं हत्याएं
-बिधनू थाना क्षेत्र में 21 नवम्बर को रोड़वेज चालक विकास द्विवेदी की उस दौरान सिर कुचलकर निर्मम हत्या कर दी गई जब वह घर से मतदान की ड्यूटी के लिए निकला था। पुलिस ने दो दिन बाद हत्या का खुलासा कर उसके दोस्त हत्यारे को जेल भेज दिया। 
-सजेती थाना क्षेत्र में 23 नवम्बर को जीजा मनोज ने अपने दो सगे नाबालिग साले अतुल जोशी व सुमित जोशी की गला रेतकर हत्या कर दी थी। जिसका खुलासा पुलिस ने उसी दिन कर दिया और हत्यारे जीजा को जेल भेज दिया।  


-अर्मापुर इलाके में 24 नवम्बर को बजरंग दल नेता इंदर उर्फ विजय यादव की आशानाई के चलते पेंचकस व चापड़ मारकर निर्मम हत्या कर दी गई। तीन दिन बाद पुलिस ने महिला सहित चार हत्यारों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इसके साथ ही दो की तलाश में पुलिस टीम को गाजियाबाद रवाना कर दिया। 


– घाटमपुर थाना क्षेत्र में 26 नवम्बर को जेठ ने नाली के विवाद में छोटे भाई की पत्नी चिंकी की फावड़ा मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने जेठ को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इसी दिन चकेरी थाना क्षेत्र में एक अज्ञात शव मिला जिसकी अभी तक न शिनाख्त हुई और न ही पोस्टमार्टम।


-बिल्हौर कोतवाली क्षेत्र में 27 नवम्बर को जमीनी विवाद में प्रधान सूर्य प्रकाश उर्फ डिम्पल कटियार की हत्या सगे चाचा ओमप्रकाश कटियार व उसका बेटे ने गोली मारकर कर दी। पुलिस ने मुठभेड़ कर दोनों को गिरफ्तार जेल भेजा। घटना को लेकर गांव में तनाव को देखते हुए आरएएफ तैनात है। 


-फीलखाना थानाक्षेत्र में 29 नवम्बर बुधवार को महेश्वरी मोहाल में भाजपा नेता व प्रापर्टी डीलर सतीश कश्यप और नाबालिग रिषभ पाण्डेय की चाकू व धारदार हथियार से हत्या कर दी गई।
– बिल्हौर थाना क्षेत्र में 30 नवम्बर को सरेशाम नगर पालिका के पास मतगणना स्थल की खबर को कवरेज करने गये पत्रकार नवीन की अज्ञात बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी।  

LEAVE A REPLY