राष्ट्रपति कार्यक्रम में आत्मदाह की धमकी पर हिरासत में लिये गये पांच कर्मचारी नेता

0
118

 कानपुर, 14 फरवरी । जनपद आये राष्ट्रपति के कार्यक्रम के दौरान आत्मदाह की धमकी देने वाले लाल इमली मिल के कर्मचारियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। लाल इमली मिल के कर्मचारी कई महीनों से वेतन ना मिलने से परेशान चल रहे हैं। जिसकी वजह से उन्होंने जिला प्रशासन से गुहार लगाई थी कि उन्हें राष्ट्रपति से मिलने की अनुमति दी जाए। कर्मचारी नेताओं ने कहा था कि अगर अनुमति नहीं दी जायेगी तो पांच लोग अपने ऊपर मिट्टी का तेल डालकर आत्मदाह कर लेंगे।

देश और विदेश में अपना परचम लहराने वाली लाल इमली मिल बंदी की कगार पर है। मिल में काम करने वाले कर्मचारियों को कई महीनों से वेतन भी नहीं मिला जिसकी वजह से वह भुखमरी की कगार पर है। कर्मचारी नेताओं ने कई बार धरना व अर्धनग्न प्रदर्शन भी किया, लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हुयी। जब कर्मचारियों को पता चला की राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद कानपुर नगर आ रहे है तो इंटक नेता व लाल इमली कर्मचारी नेता आशीष पाण्डेय, अजय सिंह सहित कर्मचारियों ने जिला प्रशासन से मिलकर राष्ट्रपति से मिलने की अनुमति मांगी। 
कर्मचारी नेताओं ने जिला प्रशासन को चेताया था कि अगर उन्हें राष्ट्रपति से मिलने की अनुमति नहीं दी जायेगी तो वह मोतीझील चौराहे पर अपने पांच साथियों के साथ आत्मदाह कर लेंगे। राष्ट्रपति के कार्यक्रम में कोई व्यवधान ना पड़े इसके लिये पुलिस ने लाल इमली मिल के तीन नेताओं को देर रात ही अपनी हिरासत में ले लिया। वहीं दो अन्य कर्मचारियों को पुलिस ने बुधवार सुबह हिरासत में लिया। 
इंटक व कर्मचारी नेता आशीष पाण्डेय का कहना है कि राष्ट्रपति महोदय कानपुर के है और वह कानपुर आये हुए हैं। हम लोग उनसे मिलकर लाल इमली मिल के कर्मचारियों की समस्याओं से अवगत कराना चाहते थे। 

राष्ट्रपति लाल इमली मिल कालोनी में कई महीनों रहे, इसलिये वो हमारी समस्याओं का समाधान कर सकते थे। लेकिन जिला प्रशासन ने हमें मिलने की अनुमति नहीं दी गई और आवाज को दबाने के लिए पुलिस ने हिरासत में ले लिया। राष्ट्रपति के शहर से जाते ही हिरासत में लिये गये सभी कर्मचारियों को छोड़ दिया गया।

LEAVE A REPLY