कानपुर :घाटों से दूर हुई गंगा में पैदल चलकर पहुंच श्रद्धालु करेंगे कतकी स्नान

0
61

कानपुर, 02 नवम्बर । कार्तिक पूर्णिमा पर सूर्य प्रणाम के साथ गंगा स्नान का बड़ा महत्व है। चार नवम्बर को पड़ने वाली कतकी स्नान पर शहर के घाटों से दूर हुई गंगा में डुबकी लगाने के लिए श्रद्धालुओं को गंगा के दूसरे छोर पर जाना पड़ेगा। सरसैया घाट में जहां गंगा स्नान के लिए श्रद्धालुओं को आधा किलोमीटर चलना पड़ेगा तो वहीं, कैंट के गोलाघाट में भी गंगा के घाट से दूर होने पर पैदल चलकर जाना होगा। ऐसा ही हाल सिद्धनाथ घाट का भी है। 

सीढ़ियों के नीचे वाला पानी स्नान के योग्य नहीं है। गंगा स्नान को आने वाले श्रद्धालु पहले नाव से ठहरे पानी को पार करने के बाद रेत पर चलकर गंगा में डुबकी लगाएंगे। यही हाल सिद्धनाथ घाट का भी है। वहां पर भी घाट के पास पानी बहुत कम होने से श्रद्धालुओं को नहाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। कैंट में गोलाघाट पर भी गंगा काफी दूर चली गईं हैं। नगर निगम ने अभी तक कोई व्यवस्था नहीं करायी है। कार्तिक पूर्णिमा के दिन लाखों की तादाद में गंगा में डुबकी लगाएंगे।

LEAVE A REPLY