जिला अस्पताल में गंदगी देख भड़के डीएम, लगाई फटकार

0
186

कानपुर, 30 दिसम्बर । जिलाधिकारी ने शनिवार को जिला अस्पताल उर्सला और डफरिन का औचक निरीक्षण किया। वार्डों सहित कई जगह गंदगी देख जिलाधिकारी का पारा हाई हो गया और कर्मचारियों को फटकार लगाई। इस दौरान एक औद्योगिक कंपनी द्वारा डफरिन अस्पताल को कई वाटर कूलर सहित कई चीजें सुपुर्द किया। 

जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह ने उर्सला अस्पताल में वार्ड प्रथम, द्वितीय, आपरेशन कक्ष, क्षय रोग कक्ष, पीपीटी कक्ष, ब्लड बैंक कक्ष, एक्स-रे कक्ष, बर्न वार्ड, पैथालाजी कक्ष, जच्चा-बच्चा वार्ड, पोस्ट आपरेटिव वार्ड एवं पंजीकरण कक्ष को देखा। उन्होंने एनआरसी वार्ड एक व दो को देखा जिसमें 10 में 04 से बेड खाली हैं। उन्होंने मरीजों से खाने के बारे में जानकारी ली। जिसमें बताया गया कि सुबह खिचड़ी दी गई थी और दोपहर में दाल, रोटी, चावल खाने को मिला है। बच्चे भर्ती हैं उन्हें विटामिन ’ए’ व आयरन की निरन्तर खुराक दी जा रही है तथा मीनू के आधार पर पौष्टिक आहार दिया जा रहा है। एनआरसी में भर्ती रंजना का वजन 04 किलो 200 ग्राम था। जिलाधिकारी ने वजन कराया तो 05 किलो 250 ग्राम निकला। 
उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. अशोक शुक्ला को निर्देश दिये कि वजन की मशीन जो खराब है उसे हटाकर दूसरी रखी जाय। उन्होंने ब्लड बैंक में ब्लड तापमान मापक को भी देखा जो मौके पर 206 तापमान था। यहां पर काफी गंदगी पायी गई जिसकी सफाई कराने के निर्देश दिये। उन्होंने देखा कि अस्पताल परिसर में गंदगी व गाड़ी के भारी संख्या में टायर पड़े हैं। जिन्हें नीलाम कराकर साफ-सफाई 10 दिन में कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि यदि दोबारा निरीक्षण में ऐसा पाया गया तो आप लोगों के वेतन रोके जायेंगे। उन्होंने अस्पताल के बाहर खाली जगह में पौधे लगाने के निर्देश दिये। 
डफरिन अस्पताल की प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक नीता चौधरी ने बताया ओपीडी के लिए एक आरो व एक वाटर कूलर, वार्डों के लिए 2 टीवी, 5 ए सी, 12 पलंग गद्दों सहित, ओ टी के लिए एक लाइट, एक मल्टी पैरामॉनीटर रहमान इंड्रस्ट्री की तरफ से प्रदान किया गया है। इस अवसर पर जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह द्वारा डफरिन परिसर में रिक्शा वालों वालों को कंबल वितरण किया गया। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक अशोक शुक्ला सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहें।

LEAVE A REPLY