कानपुर(अपराध) : दारोगा को बदमाश ने मारी गोली ….

0
228

वर्ल्ड खबर एक्सप्रेस न्यूज

कानपुर। सूबे में काननू व्यवस्था बद से बदत्तर होती जा रही है जिसकी बानगी कानपुर शहर में लगातार देखने को मिल रही है जहां एक तरफ पत्रकार को गोलियों से भून दिया जाता है वहीं दूसरी तरफ गस्त के दौरान बदमाश दारोगा पर फायर झोंककर फरार हो जाता है .

पनकी थाना के पनकी मंदिर चौकी इंचार्ज अनुराग सिंह पनकी गंगागंज तिराहे के पास बुधवार तड़के तीन बजे हमराही गिरजेश के साथ गश्त कर रहे थे। इसी दौरान उन्हें कपली की ओर से कंबल ओढ़े एक संदिग्ध आता हुआ दिखा। दरोगा ने ललकारा तो बदमाश मौके पर कंबल छोड़ भागने लगा और पास में खड़ी एक कार में छिप गया। पीछा करते हुए दरोगा भी पहुंच गए। दरोगा ने सिपाही के साथ मिलकर बदमाश का पैर खींचा तो उसने अचानक दरोगा पर साबड़ से हमला बोल दिया। साथी सिपाही ने संभलते हुए बदमाश को पीछे से दबोच लिया। इस बीच बदमाश ने कमर तमंचा निकाला और सामने खड़े दरोगा पर फायर कर दिया। गोली चौकी इंचार्ज अनुराग सिंह के चेहरे पर लगी। दरोगा अनुराग सिंह गोली लगते ही गिर गए और सिपाही बदमाश को छोड़ उन्हें संभालने लगा।

 इस बीच मौका पाकर बदमाश भागने लगा। चौकी प्रभारी कुछ देर में उठे और रिवाल्वर से बदमाश पर फायर कर दिया। बताया जा रहा है कि भाग रहे बदमाश के सिर में गोली लग गई। इसके बावजूद वह अंधेरे का फायदा उठाते हुए भाग गया। हल्ला मचने पर क्षेत्रीय युवक शीलू अपनी कार से दरोगा को हैलट पहुंचाया। उधर, जानकारी मिलते ही पनकी इंस्पेक्टर समेत कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंची। हैलट में डॉक्टरों ने उपचार के बाद दरोगा को घर भेज दिया।

पनकी एसओ ने बताया कि मौके से बदमाश का कंबल और साबड जब्त कर लिया गया है। सिपाही की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। दरोगा के गोली ठुड्ढ़ी पर लगी है जिसका इलाज डाक्टरों ने कर दिया है। इधर सुबह जानकारी होने पर एसएसपी अखिलेश कुमार मीणा समेत आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। दरोगा के घर जाकर हालचाल लिया। एसएसपी ने बताया कि संदिग्ध बदमाश की तलाश शुरू कर दी गई है। कानपुर के अस्पतालों में भी पुलिस को सक्रिय कर दिया गया है। बदमाश को गोली लगी है जिससे संभावना है कि जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

अपराधियों के हौसले बुलंद

कानपुर में अपराधियों के हौसले किस स्तर पर बुलंद है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा रहा है कि पिछले पन्द्रह दिनों में ग्यारह हत्यायें हो चुकी हैं। जिनमें एक पत्रकार नवीन गुप्ता की भी हत्या हो चुकी है। जिसका खुलासा सात दिन बाद भी पुलिस नहीं कर पाई है। दरोगा से पहले बीते दिनों एक सिपाही पर भी नौबस्ता थाना क्षेत्र में जानलेवा हमला हो चुका है और मरा समझकर उसे छोड़कर बदमाश भाग निकले थे। चोरी, लूट, छिनैती की घटनाएं तो अब आम बात हो गई है।

एसपीओ को दिया था कंधा

पनकी चौकी इंचार्ज अनुराग सिंह ने चकेरी चौकी के एसपीओ बृजेश पाल की हत्या के बाद उसे कंधा दिया था। उस दौरान सिंह ने बयान भी दिया था कि हर हाल में हत्यारों को सलाखों को जेल के अंदर पहुंचाया जाएगा। हालांकि उसके हत्यारे जेल पहुंच गयें है, पर पुलिस इस बिन्दु को भी लेकर जांच कर रही है। बताते चलें कि अनुराग पहले चकेरी चौकी के इंचार्ज भी रह चुके हैं।

LEAVE A REPLY