कानपुर के छात्र ने आगरा के इंजीनियरिंग कॉलेज में की खुदकुशी 

0
72

कानपुर, 24 नवम्बर । जनपद के ग्रामीण क्षेत्र चौबेपुर में रहने वाला छात्र आगरा में हिन्दुस्तान कॉलेज में दाखिला लेते हुए इंजीनियरिंग कर रहा था। शुक्रवार सुबह छात्र का शव कॉलेज परिसर में बने सीनियर ब्वॉय हॉस्टल के कमरे में फांसी के फंदे पर लटकता मिला। कॉलेज प्रबंधन ने मृतक छात्र के परिजनों को घटना की जानकारी देते हुए पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम भेजते हुए आत्महत्या के कारणों को पता लगाने में जुट गई है। 

चौबेपुर में रहने वाले संतसरन पटेल का बेटे प्रियांशु को इंजीनियर बनाना चाहता था। परिजनों ने बेटे को इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए आगरा के हिन्दुस्तान कॉलेज में दाखिला कराया था। होशियार प्रियांशु पूरी लगन के साथ पढ़ाई कर रहा था और  सीनियर ब्वायज हॉस्टल के कमरा नम्बर 404 में अकेला रहता था। शुक्रवार की सुबह छात्र के बगल के कमरा नम्बर 406 में रहने वाला साथी मयंक उसे कॉलेज चलने के लिए बुलाने पहुंचा। 

जहां प्रियांशु के कमरे का दरवाजा बंद था। उसने बाहर से आवाज लगाई, लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। जिस पर उसे शक हुआ और उसने कमरे का दरवाजा तोड़ दिया और जैसे ही अंदर गया तो प्रियांशु का शव फांसी के फंदे पर लटका हुआ पाया। यह देख उसके होश उड़ गये और उसने इसकी जानकारी कॉलेज प्रबंधन को दी। सूचना मिलने पर कॉलेज स्टाफ पहुंच गया। कॉलेज स्टाफ ने प्रियांशु को फंदे से नीचे उतारा और आगरा के एस.एन. अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 
सूचना मिलने पर थाना फरह पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस को कमरे की जांच पड़ताल में कोई सुसाइड नोट नहीं मिला। छात्रा द्वारा आत्महत्या करने के पीछे आखिर क्या कारण रहे इसकी तह में जाने के लिए पुलिस ने उसके साथियों व स्कूल प्रशासन से पूछताछ की। मौके से मिले मृतक छात्र के मोबाइल और लैपटॉप को पुलिस ने जब्त करते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। कॉलेज प्रबंधन ने घटना की जानकारी परिजनों को दी है। बेटे द्वारा फांसी लगाकर आत्महत्या करने पर परिजन हैरान हैं। फिलहाल पुलिस छात्र के आत्महत्या के कारणों का पता लगाने में जुटी है। वहीं घटना को लेकर हॉस्टल व कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र-छात्राएं स्तब्भ हैं। 

LEAVE A REPLY