​कानपुर (घाटमपुर): खौफ में खाकी , चौकी के अंदर दरोगा व दिवान पर बरसे लात घूसें

0
1612

वर्ल्ड खबर एक्सप्रेस न्यूज 
कानपुर : सूबे की सरकार बदल गयी लेकिन खाकी अभी भी खौफ में है या हम यूं कह ले कि खाकी को भी सुरक्षा की जरूरत है . घाटमपुर कोतवाली की साढ़ चौकी में दबंग लेडी व उसके भाइयों ने दरोगा व दिवान को जमकर पीटते हुए सिपाहियों व सैकड़ो की भीड़ के सामने आराम से निकल गयी और पुलिस महकमें में हड़कम्प मचाते  सूबे की पुलिस के ऊपर कई सवाल खड़े कर गयी है .

क्या है पूरा मामला 
साढ़ चौकी क्षेत्र के बैजुपुर गॉव में आज सुबह मवेशियों को बांधे जाने वाले खूंटों को लेकर दो पक्षों में जमकर विवाद व पथराव हुआ था बैजुपुर गॉव की दबंग बहने लल्ली व कल्ली ने अपने भाइयों अभिलाष व कृष्णकांत के साथ मिलकर पड़ोसी जगरूप , जगदेई व सोमकली को पीटते हुए उनके घर मे पथराव भी किया .

यूपी डायल 100 टीम को बनाया बंधक
बैजुपुर गॉव में पथराव व झगड़े की सूचना पर पहुंचे डायल 100 टीम के सिपाही राम प्रसाद , अरुण कुमार व मनोज कुमार को लल्ली व कल्ली ने भाइयों के साथ मिलकर घर मे बंधक बनाते हुए जमकर गाली गलौज की और जब सिपाहियों ने दबंगों के सामने हाथ पैर जोड़े तो उन्हें छोड़ते हुए दुबारा गॉव में न आने की चेतावनी भी दी .साथ ही कवरेज करने गए पत्रकारों पर भी लल्ली कल्ली का कहर बरसा उनके कैमरों व मोबाइल से सिपाहियों के बंधक बनाए जाने की फोटो व विडियो डिलेट कराने के साथ अभद्रता की .

20 मिनट तक चौकी में खाकी पर बरसे लात घूसें 
गॉव में दबंगो के आगे जब पुलिस नतमस्तक हो गयी तो दूसरा पक्ष चौकी आ पहुंचा और अपनी फरियाद चौकी इंचार्ज त्रिवेणी दत्त पांडेय से बताने लगा इसी बीच कल्ली अपने भाईयों अभिलाष व कृष्ण कुमार के साथ चौकी आ पहुंची और बवाल करने लगी . चौकी इंचार्ज ने दिवान राधा चरन से अभिलाष व कृष्णकुमार को लॉकअप में बंद करने के लिए बोलते हुए बाहर निकल आये इसी बीच जैसे ही दिवान दोनो को अंदर लॉकअप में ले गए.

कल्ली भी पहरे के सिपाही को धक्का देते हुए लॉकअप के अंदर पहुंच गई और अंदर से दरवाजा बंद करते हुए भाइयों के साथ मिलकर दिवान की पिटाई शुरू कर दी इधर जब चौकी इंचार्ज को मामले की जानकारी हुई तो दिवान को बचाने के लिए पहुंचे ही थे कि तीनों ने लॉकअप का दरवाजा खोलते हुए चौकीइंचार्ज परिसर के मैदान में जमकर लात घूसें बरसाए .

सैकड़ों की भीड़ व सिपाही बने मूकदर्शक 
जब चौकी इंचार्ज की पिटाई हो रही थी तब वहां इलाकाई लोगों की भीड़ के साथ साथ चौकी के आधा दर्जन सिपाही दहशत में आकर तमाशबीन बने रहे . और कल्ली अपने भाइयों को लेकर चौकी से फुर्र हो गयी .
वो  तीन ये 8 फिर भी पिट गए 
बताते चले पुलिस और आम आदमी में बहुत बड़ा फर्क होता है वो वेल ट्रेंड होते है कि कैसे उन्हें अपराधियों को पकड़ना है और उन्हें खुद की सुरक्षा के साथ साथ जनता की सुरक्षा के ट्रेनिग दी जाती है अगर आज चौकी के सिपाही थोड़ी से हिम्मत दिखाते तो सायद आज पुलिस की चौकी के अंदर पिटाई जैसे शर्मनाक घटना न होती.

सीओ समेत पहुंची सर्किल फोर्स
घटना के बाद सीओ घाटमपुर समेत सर्किल फोर्स मौके पर पहुंचकर आरोपियों की तलाश में उनके गॉव में दबिश देने पहुंच गई है वही सीओ का कहना है कि आरोपियों के ऊपर मुकदमा दर्ज करते हुए सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी .

LEAVE A REPLY