कानपुर :एसपी क्राइम व जिलापूर्ति अधिकारियों की टीम ने पेट्रोल पम्पों पर मारे छापे

0
324

-जांच की कार्रवाई से जनपद के पम्प संचालकों में मचा हड़कम्प 
कानपुर, 01 मई । पम्प मालिकों व कर्मचारियों द्वारा उपभोक्ताओं के साथ किये जा रहे घटतौली व मिलावटखोरी के खेल की धरपकड़ जनपद में तेज कर दी गई है। सोमवार चिप से पेट्रोल और डीजल की चोरी पकड़ने को एसपी क्राइम व जिलापूर्ति अधिकारियों की टीम ने अलग-अलग चार पम्पों पर छापा मारा। कार्रवाई के दौरान मशीन की जांच के साथ लीटर मानकों की माप की गई। 

 शासन के निर्देश पर एसपी क्राइम जीतेन्द्र श्रीवास्तव व जिला पूर्ति अधिकारी नीरज कनौजिया की संयुक्त टीमों ने दोपहर में अचानक पेट्रोल पम्पों पर छापेमारी की। क्राइम ब्रांच की टीम के साथ अफसर सबसे पहले सिविल लाइंस परमट मंदिर की तिराहे पर स्थित पैरागान पेट्रोल पम्प पहुंची, कर्मचारी घबरा गए और भाग खड़े हुए। जिससे जांच करने पहुंचे अफसरों को शक गहरा गया। कर्मचारियों को पुलिस टीम ने पकड़ा और जांच पड़ताल शुरू पुलिस व बाट-माप विभाग के टीम पम्प में लगी मशीनें खुलवाई और घटतौली के लगाई जा रही रिमोट चिप देखी। 
किसी प्रकार की मशीन में चिप न मिलने पर अफसरों ने कर्मचारियों से भागने का कारण पूछा। जांच के दौरान पेट्रोल लेने आए ग्राहकों को लौटा दिया गया। इसके बाद अफसर रैना मार्केट स्थित पेट्रोल पम्प पहुंचे। यहां पर मशीनों को खुलवाकर गहनता से जांच की गई। इस तरह से अलग-अलग शहरी क्षेत्र में आने वाले चार पेट्रोल पम्पों पर छापा मारा गया। कार्रवाई करने वाली टीम के मुताबिक जांच के दौरान कुछ खामियां मिली हैं। बाकी घटतौली का मामला कहीं भी नहीं पाया गया है। 


जिला पूर्ति अधिकारी नीरज कुमार कनौजिया ने बताया कि दो पेट्रोल पंपों की जांच में कोई गड़बड़ी नहीं मिली है। अधिकारी ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों के पम्पों मे गड़बड़ी की शिकायतें आ रही है। इसको देखते हुए शहर के अलावा हाईवे व ग्रामीण इलाकों बने पेट्रोल पंपों पर जांच की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। अगर चिप या रिमोट से चोरी पकड़ी गई तो लाइसेंस निरस्तीकरण की संस्तुति के साथ-साथ दोषी पेट्रोल पम्प संचालक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी

LEAVE A REPLY