पटना : चारा घोटाला में लालू यादव सातवीं बार गए जेल

0
89

पटना 23 दिसम्बर – राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख लालू प्रसाद यादव करोड़ों रुपए के चारा घोटाला और उससे जुड़े आय से अधिक संपत्ति के मामले में शनिवार को सातवीं बार जेल भेजे गए ।

देवघर कोषागार से 89 लाख रूपय अवैध रूप से निकासी के मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद उन्हें सीबीआई की विशेष अदालत रांची के कोर्ट रूम में ही न्यायिक हिरासत में ले लिया गया और जेल भेज दिया गया।
lalu yadav

लालू यादव पहली बार 30 जुलाई 1997 को चारा घोटाला के आर सी 20 /96 मामले में जेल भेजे गए थे। लगभग 134 दिनों तक जेल में रहने के बाद उन्हें एक 11 दिसंबर 1997 को रिहा किया गया था।

चारा घोटाला के आर सी 64 ए / 96 मामले में लालू यादव को 28 अक्टूबर 1998 को जेल भेजा गया था और 73 दिन जेल में रहने के बाद जेल से रिहा हुए थे।

तीसरी बार लालू प्रसाद यादव 5 अप्रैल 2000 को चारा घोटाला से ही जुड़े आय से अधिक संपत्ति के मामले में जेल भेजे गए थे और 3 महीने तक जेल मे रहने के बाद 11 मई को पटना उच्च न्यायालय द्वारा मिले औपबंधिक जमानत पर रिहा किए गए थे।

इसी मामले आर सी 5 के / 98 में औपबंधिक जमानत की अवधि समाप्त हो जाने के बाद 28 नवंबर वर्ष 2000 को चौथी बार एक दिन के लिए केंद्रीय जेल गए थे और बैल पर दोबारा 29 नवंबर को रिहा भी कर दिए गए थे।

चारा घोटाला के आर सी 47 ए / 96 मामले में 26 नवंबर 2001 को पांचवी बार जेल गए और 19 दिसंबर को रिहा हुए।

न्यायालय ने उन्हें छठी बार 30 सितंबर 2013 को 37.7 करोड़ रुपए के अवैध निकासी के सिलसिले में रांची के बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल भेजा गया था और लगभग ढाई महीने तक जेल में रहने के बाद दिसंबर में उन्हें रिहा किया गया था ।

LEAVE A REPLY