नई दिल्ली : कांग्रेस ने मनाया 133वां स्थापना दिवस न

0
86

ई दिल्ली, 28 दिसम्बर । अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (कांग्रेस) ने बुधवार को 133 वां स्थापना दिवस मनाया। इस मौके पर राहुल गांधी ने बतौर अध्यक्ष पार्टी का ध्वज फहराया कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेताओं पर संविधान के साथ खिलवाड़ करने और झूठ की राजनीति करने के आरोप लगाए।

राहुल गांधी ने कहा, ‘कांग्रेस ने हमेशा सच का साथ दिया है| आज के समय में बाबा साहेब अंबेडकर का दिया हुआ संविधान खतरे में है| उस संविधान पर हमला हो रहा है| ये देखना दुखद है| लेकिन हमारा कर्तव्य है कि हम संविधान की रक्षा करें|’
उन्होंने कहा, ‘भाजपा लगातार झूठ के साथ आगे बढ़ रही है| भाजपा की ओर से कांग्रेस के खिलाफ हमले हुए हैं|’
उन्होंने कहा, ‘हम भले ही हार जाएं, लेकिन सच का साथ नहीं छोड़ेंगे।’

इस मौके पर आज पार्टी मुख्यालय राहुल गांधी के साथ मोतीलाल बोरा, राज्यसभा सदस्य और वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, जनार्दन द्विवेदी मौजूद रहे। सेवा दल के कार्यकर्ताओं ने गॉर्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके अलावा पार्टी मुख्यालय को भव्य तरीके से सजाया गया। राहुल गांधी के नए दिशा-निर्देश भी आज मौके पर देखने को मिले। पार्टी ने वरिष्ठ नेताओं का इस मौके पर सम्मान किया।
दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन के निर्देशानुसार सभी जिला और ब्लॉक कांग्रेस कमेटी ने पूरे दिल्ली में अपने-अपने क्षेत्रों में पार्टी का झंडा फहराकर कांग्रेस स्थापना दिवस मनाते हुए वरिष्ठ काग्रेस नेताओं को सम्मानित किया। इसके अलावा माकन के निर्देश पर अधिकतर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पार्टी के झंडे को अपने घरों पर लगाया।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा में नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद ने पार्टी कार्यकर्ताओं को बधाई देते हुए कहा कि पार्टी के कई कार्यकर्ताओं ने बलिदान करके कांग्रेस को खड़ा किया है| पार्टी के नेताओं ने देश को संविधान दिया है। हालांकि कुछ ताकतें आज उससे छेड़छाड़ करना चाहती हैं| कांग्रेस ये कभी होने नहीं देगी|

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस की स्थापना ब्रिटिश राज में 1885 में हुई थी। इसके संस्थापकों में ए ओ ह्यूम, दादा भाई नौरोजी और दिनशा वाचा शामिल थे। 1947 में आजादी के बाद, कांग्रेस भारत की प्रमुख राजनीतिक पार्टी बन गई।
आजादी से लेकर 2016 तक, 16 आम चुनावों में से, कांग्रेस ने 6 में पूर्ण बहुमत से जीता है और 4 में सत्तारूढ़ गठबंधन का नेतृत्व किया। देश में अबतक कांग्रेस के सात प्रधानमंत्री रह चुके हैं। पहले जवाहरलाल नेहरू थे और हाल ही में मनमोहन सिंह थे। 2014 के आम चुनाव में, कांग्रेस ने आजादी से अब तक का सबसे खराब आम चुनावी प्रदर्शन किया और 543 सदस्यीय लोकसभा में केवल 44 सीटें जीतीं।

LEAVE A REPLY