कानपुर : आईएएस की पत्नियों ने किया रक्तदान

0
140

कानपुर, 18 दिसम्बर । हमारे द्वारा किये रक्त दान से किसी की भी जिन्दगी बच सकती हैं। रक्त दान सभी दानों से बड़ा हैं। अधिक से अधिक लोगों को सक्रिय होकर रक्त दान करना चाहिए। उच्च वर्ग यदि आगे आये तो दानदाताओं की संख्या आसानी से बढ़ सकती है। 18 से 65 वर्ष तक के सभी लोगों को रक्तदान करना चाहिए। आकांक्षा समिति ने यह महसूस किया और पूरे उत्तर प्रदेश में समिति द्वारा रक्तदान शिविरों का आयोजन कराया जा रहा हैं।
यह बात मण्डलायुक्त पीके महान्ति की धर्म पत्नी इला महान्ति ने उर्सला अस्पताल में रक्तदान शिविर तथा ब्लड कलेक्शन एवं ट्रांसपोर्ट वैन का उद्घाटन करते हुए कही। उन्होंने कहा, रक्तदान से कमजोरी नहीं आती बल्कि नये खून की संरचना में सक्रियता बढ़ती है। रक्तदान से कभी भी पीछे नहीं होना चाहिए तथा रक्तदान करने वालों को प्रोत्साहित भी करें। यदि सभी लोग रक्तदान करेंगे तो खून की कमी से होनी वाली मौतों पर विजय पाई जा सकती हैं। बताया कि, कोई भी व्यक्ति तीन माह के अंतराल में रक्तदान कर सकता है।

जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह की पत्नी गरिमा सिंह ने रक्तदान देकर रक्तदान कैम्प का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर एडीजे की पत्नी स्मिता वर्मा, एडीएम एल. ए. की पत्नी रिचा वर्मा, केडीए वीसी के. विजयेन्द्र पांडियन आदि ने रक्तदान किया। जिलाधिकारी ने पत्नी ने कहा की सभी को रक्तदान करना चाहिए और जिन लोगों ने रक्तदान किया है उन्हें और लोगों को बताना चाहिए कि रक्तदान करने से कोई समस्या नहीं होती है। एक बार दान करने से तीन लोगों की जान बचती है, इसलिए सभी को रक्तदान आवश्य करना चाहिए।

कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा० अशोक शुक्ला ने कहा कि प्रति तीसरे माह खून देने से मनुष्य को किसी प्रकार की कमजोरी नहीं आती है क्योंकि यह खून बनाने की प्रक्रिया पूर्ण कर देता है। 

मुख्य चिकत्सा अधीक्षक ने कहा कि इस प्रकार के कैम्पों के आयोजन होने से जनता में अच्छा सन्देश जाता है और जो लोग खून देने से डरते है वह डर भी उनका दूर हो जाता है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि सोमवार को अधिकारियों व उनकी पत्नियों सहित कुल 32 लोगों ने अपना रक्तदान दिया।

 रक्तदान के बाद मण्डलायुक्त की पत्नी ने उर्सला वार्ड में भर्ती बच्चों तथा महिलाओं को फल वितरण किया। इस अवसर पर केस्को एमडी पत्नी नेहा निरंजन, डीएलसी पत्नी रमा सिंह, एसडीएम घाटमपुर पत्नी अमिता शास्त्री आदि सम्बंधित अधिकारियों की पत्नियां उपस्थित रहीं। 

LEAVE A REPLY