किसके इशारे पर हत्यारे सिपाही के लिए जमा हो रहा फण्ड

0
239

लखनऊ। लखनऊ मे रक्षक से भक्षक बनने की कहानी सबके सामने आ चुकी है। विवेक की हत्या में शामिल दोनों सिपाहियों का इतिहास उस क्षेत्र के लोग अब जुबानी बताते है। एक सिपाही का वह फोटों भी वायरल हो चुका है जिसमें वह अनुशासनहीनता करते हुए एसएसपी की कुर्सी में बैठा है।

इसके बावजूद उक्त सिपाही की मदद के लिए विभागीय स्तर पर लाखों रूपये खाते में पहुंचाए जाना लोगों के गले नही उतर रहा है। आखिर हत्यारोपी उक्त सिपाहियों के लिए यह आर्थिक मदद एक तरह से अपराध को बढ़़ावा है। उक्त आरोपी पुलिस कर्मी की पत्नी द्वारा चश्मदीद गवाह को धमकाना भी एक तरह से अपराध है। ऐसे में इस हत्याकाण्ड के बाद चश्मदीद गवाह की सुरक्षा का सवाल भी खड़ा होता है।

उक्त पुलिस कर्मी के कारण पूरे पुलिस मोहकमें औरा सरकार की चहुओंर बदनामी हो रही है। ऐसे में उक्त पुलिस कर्मी को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष संरक्षण देना अपराध की श्रेणी में आता है। सरकार को इस मामले में तत्काल उक्त पुलिस कर्मी की पत्नी का तबादला दूरस्थ करना चाहिए और फण्डिग करने तथा कराने वालों की जाॅच के आदेश देने चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here