2 अक्टूबर को गांधीजी की 150वीं जयंती, जानें महात्मा गांधी के जीवन से जुड़ी अनमोल बातें।

0
266

जयपुर,1अक्टूबर।इस बार दो अक्टूबर यानी मंगलवार को गांधीजी की 150वीं जयंती मनाई जाएगी। गांधी जयंती को लेकर देशभर में तैयारियां तेज हो गई है। राजधानी जयपुर में भी जयंती को लेकर खासा उत्साह देखने को मिल रहा है ।

दक्षिण अफ्रीका में रंग भेद ने बदला सफर

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 में गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। वे भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के प्रमुख नेता रहे। देश की आजादी में गांधी जी का महत्वपूर्ण योगदान रहा। आजादी के लिए वे कई बार जेल गए और यातनाएं सही। मोहनदास करमचन्द गांधी अहिंसा आंदोलन के लिए जाने जाते हैं। देश को आजाद कराने में गांधी के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। 1892 के बाद से गांधीजी का जीवन पूरी तरह से बदल गया। गांधीजी अपनी वकालत की पढ़ाई पूरी कर चुके थे। 1893 में गांधीजी ने दक्षिण अफ्रीका में रंग भेद की नीति का सामना किया। इसके बाद तो उनके जीवन ने एक नया मोड़ ले लिया। वहीं से उनके महात्मा बनने का सफर शुरू हुआ। गांधी ने कई आंदोलनों का नेतृत्व किया। उनके नैतिक मूल्य व अनमोल विचार हमें मार्ग दर्शाने में सहायक हैं। ऐसे विचारों को अाप भी अपने दोस्तों को भेजकर गांधी जयंती की बधाई दे सकते हैं।

राष्ट्रीय गांधी म्यूजियम में गांधीजी पर है विशेष

इधर, मोहनदास कर्मचंद गांधी के जन्मदिवस के अवसर पर दिल्ली का राष्ट्रीय गांधी म्यूजियम कुछ विशेष करने जा रहा है। यहां पर गांधी जी के बारे में जानने के साथ ही उनकी कृत्रिम दिल की धड़कने भी सुनने को मिलेंगी। धड़कनों को गांधी जी की विभिन्न ईसीजी डिटेल से तैयार किया गया है। 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के मौके पर नैशनल गांधी म्यूजियम में विशेष प्रोग्राम भी आयोजित होगा।

गोडसे ने गांधीजी की कर डाली हत्या

20 जनवरी 1948 को बिड़ला हाउस में प्रार्थना सभा के दौरान विस्फोट हुआ था, लेकिन उन्होंने सुरक्षा लेने से इंकार कर दिया था। इसके बाद 30 जनवरी को बिड़ला हाउस में नाथूराम गौड़से ने गांधीजी की गोली मारकर हत्या कर दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here