बेंगलुरु एयर शो में उड़ान भरने के लिए तैयार नहीं हैं राफेल

0
72

नई दिल्ली : वायुसेना के उपप्रमुख एयर मार्शल आरके सिंह भदौरिया ने कहा कि विवादास्पद राफेल फाइटर जेट्स फरवरी में होने वाले बेंगलुरु एयर शो में उड़ान भरने के लिए अभी तैयार नहीं हैं। उन्होंने कहा, भारत के लिए नए राफेल फरवरी तक तैयार नहीं हो पाएंगे। हम उम्मीद करते हैं कि 20 से 24 फरवरी 2019 को होने वाले एयरो इंडिया शो में कुछ अन्य राफेल उड़ान भरेंगे।

फ्रांसीसी एयरोस्पेस मेजर (डेसॉल्ट एविएशन) सितंबर 2019 में भारतीय वायुसेना को उड़ने की हालात में 36 राफेल विमान देने के लिए तैयार हैं। वायुसेना का 5 दिवसीय द्विवार्षिक कार्यक्रम का 12वां संस्करण शहर के उत्तरी क्षेत्र भारतीय वायुसेना के येहलंका बेस पर आयोजित किया जाएगा।

भदौरिया ने कहा, हमें आशा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका उद्घाटन करेंगे। रक्षामंत्री से इसपर फोन पर बातचीत होगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा संचालित हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) इस शो को आयोजित करने के लिए प्रमुख भूमिका निभाएगा। कई वर्षों से एचएएल ही इस आयोजन की मेजबानी कर रहा है।

चौथी पीढ़ी का लड़ाकू विमान राफेल, रुस द्वारा निर्मित मिग-21 को प्रतिस्थापित करने का काम करेगा। इसके कारण वायुसेना उसे अपने खेमे से बाहर कर रहा है। येलहंका एयरपोर्ट पर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के प्रेस वार्ता में वायु सेना के डिप्टी चीफ एयर मार्शल आरके सिंह मौजूद थे। उस दौरान एचएएल की अनुपस्थिति में राफेल सौदे को खत्म करने संबंधी सवाल पूछे जाने पर सीतारमण ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने 10 अप्रैल 2015 में लड़ाकू विमान सहित सभी मुद्दों पर संयुक्त संबोधित किया था।

रक्षामंत्री ने कहा, हमारे समझौते ने यूपीए सरकार द्वारा किए गए समझौते से काफी बेहतर सौदा किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान और चीन की ताकत को समझते हुए राफेल सौदे के लिए तत्काल संपर्क किया था। उन्होंने जोर देकर कहा कि 42 से 33 कमजोर टुकड़ी के साथ हम सक्षम 36 राफेल विमान प्राप्त करने गए थे। वह तत्कालीन जरूरत थी, जिसके कारण हमने यह करार किया। कांग्रेस निराश है, सत्ता में लौटने के लिए वह इस मुद्दे को उठा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here