विश्व की पहली हेरिटेज ब्रॉडगेज भाप रेलगाड़ी की भारत में फिर शुरूआत!

0
127

वाष्प इंजन चालित रेलगाड़ियों का परिचालन भारत में समाप्त हो जाने के लगभग 25 वर्ष पश्चात, एक बार फिर समय-सारणी वाली कमर्शियल साप्ताहिक वाष्प चालित रेल सेवा का शुभारंभ किया गया है । यह रेलगाड़ी मात्र ₹10 के सामान्य किराए पर गढ़ी हरसरू एवं फर्रुख नगर के बीच प्रारंभ कर दी गई है।

रेलयात्रियों की चिर प्रतिक्षित मांग पर रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अश्वनी लोहानी ने 15 सितंबर, 2018 को ‘स्वच्छता ही सेवा’ सप्ताह के शुभारंभ के दिन इस रेलगाड़ी को आज रविवार से चलाए जाने की घोषणा की थी। यह निश्चित है कि विश्व भर के पर्यटक और भाप रेल परिचालन के प्रेमी समूची दुनिया से इस स्थान की यात्रा करेंगे और वाष्प इंजन चालित रेलगाड़ी में सफर का रोमांच अनुभव करेंगे। इससे इस क्षेत्र में पर्यटन से जुड़ी अन्य संभावनाओं को भी प्रोत्साहन मिलेगा।

इस समय इस रेलगाड़ी को डब्ल्यू.पी.-7200 ‘आजाद’ जो कि वर्ष 1947 में मैसर्स बाल्डविन लोकोमोटिव वर्क्स यू.एस.ए. द्वारा निर्मित किया गया था, से चलाया जा रहा है। इसे सन 1947 में भारत लाया गया था इसीलिए इसका नाम ‘आजाद’ रखा गया था। इस इंजन को मैकेनिकल इंजीनियरिंग की दक्षता के साथ इसके पुराने यशस्वी रूप में सहेज कर रखा गया है।

उत्तर रेलवे के प्रमुख मुख्य इंजीनियर अरुन अरोरा ने बताया कि माननीय रेलमंत्री पीयूष गोयल द्वारा स्टीम टूरिज्म को प्रोत्साहन देने तथा अपनी धरोहर को सहेज कर रखने के उनके निर्देशानुसार इस इंजन को स्टीम लोको शेड रेवाड़ी द्वारा पुनः स्थापित किया गया है। आज जब इस स्टीम ट्रेन को चलाया गया तो रेल यात्रियों का उत्साह देखते ही बनता था। यात्रीगण इसे लेकर बहुत रोमांचित थे। इस रेलगाड़ी की समय-सारणी निम्नानुसार है :-

स्टीम स्पेशल संख्या 04445 प्रातः 9:30 बजे गढ़ी हरसरू से प्रस्थान कर सुबह 10:15 बजे फर्रुख नगर पहुंचेगी तथा इसकी वापसी यात्रा यानि रेलगाड़ी संख्या 04446 फर्रुख नगर से 11:15 बजे प्रस्थान करके दोपहर 12:00 बजे गढ़ी हरसरू पहुंचेगी। मार्ग में यह रेलगाड़ी दोनों दिशाओं में सुल्तानपुर कलियावास रेलवे स्टेशन पर ठहरेगी। आज का दिन भारतीय रेल के इतिहास में अति महत्वपूर्ण दिन है क्योंकि हम अपनी धरोहर को वाष्प रेल प्रेमियों के समक्ष प्रस्तुत कर पा रहे हैं। यात्रीगण मात्र ₹10 के सामान्य किराए पर इस भाप चालित रेलगाड़ी की यात्रा का सुखद अनुभव ले सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here