एशिया कप : “फाइनल में पहुंचा भारत”, पाक को 9 विकेट से चटाई धूल

0
92

दुबई,24सितंबर।भारतीय क्रिकेट टीम ने पाकिस्तान को 9 विकेट से हराकर एशिया कप टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बना ली है। पाकिस्तान ने 238 रनों का लक्ष्य दिया था, जिसे भारत ने 39.3 ओवर में ही हासिल कर लिया। भारत की यह इस टूर्नामेंट में लगातार चाैथी जीत रही वहीं पाकिस्तान पर दूसरी। इससे पहले भारत ने पाकिस्तान को 19 तारीख हुए मुकाबले में 8 विकेट से जीत दर्ज की थी। ओपनर रोहित शर्मा आैर खिशर धवन ने शतकीय पारियां खेल पाकिस्तान की जीत के रास्ते बंद कर दिए। दोनों के बीच पहले विकेट के लिए 33.3 ओवर में 210 रनों की साझेदारी हुई। धवन 16 चाैकों आैर 2 छक्कों की मदद से 100 गेंदों में 114 रन बनाकर आउट हुए। धवन का यह 15वां शतक रहा। रोहित का 19वां शतक रहा। रोहित 118 गेंदों में 7 चाैके आैर 4 छक्के की मदद से 111 रन बनाकर नाबाद रहे। वहीं 12 रन बनाकर नाबाद रहे।
भारतीय गेंदबाजों ने डेथ ओवरों में बेहतरीन वापसी करके पाकिस्तान को शोएब मलिक की बड़ी अर्धशतकीय पारी के बावजूद एशिया कप सुपर फोर मैच में रविवार को यहां सात विकेट पर 237 रन ही बनाने दिए। भारत ने शुरू में ही तीन सफलताएं हासिल कर ली थी लेकिन अच्छी फार्म में चल रहे शोएब (90 गेंदों पर 78 रन) और कप्तान सरफराज अहमद (44) ने तीसरे विकेट के लिये 107 रन जोड़कर पहले बल्लेबाजी का फैसला करने वाले पाकिस्तान को इन झटकों से उबारा। भारत ने हालांकि अंतिम आठ ओवरों में केवल 44 रन देकर अच्छी वापसी की। पाकिस्तान का स्कोर 42 ओवर के बाद चार विकेट पर 193 रन था लेकिन इसके बाद अगले आठ ओवर में केवल एक बाउंड्री लगी।
भारत को वापसी दिलाने में जसप्रीत बुमराह (29 रन देकर दो विकेट) ने अहम भूमिका निभायी। युजवेंद्र चहल (46 रन देकर दो) और कुलदीप यादव (42 रन देकर दो) ने भी अच्छी गेंदबाजी की। बुमराह ने इससे पहले भुवनेश्वर कुमार के साथ मिलकर शुरुआती ओवरों में भी कसी हुई गेंदबाजी की। पहले सात ओवरों में केवल 21 रन बने जिसके बल्लेबाज दबाव में आ गये और उन्होंने अपने विकेट गंवाये। चहल ने अपने पहले ओवर में ही इमाम उल हक (10) को पगबाधा आउट किया। भारत को हालांकि इस सफलता के लिए डीआरएस का सहारा लेना पड़ा। कुलदीप की फखर जमां (31) के खिलाफ पगबाधा की अपील पर अंपायर की उंगली उठ गयी। रीप्ले से हालांकि लग रहा था कि गेंद तब बल्लेबाज के दस्ताने से लगी थी लेकिन उन्होंने डीआरएस नहीं लिया।
बाबर आजम (नौ) रन आउट होकर पवेलियन लौटे जिससे स्कोर तीन विकेट पर 58 रन हो गया। शोएब ने अपनी अच्छी फार्म के अनुरूप बल्लेबाजी की और मैदान के दोनों तरफ रन बटोरे। लांग आन और लांग आफ पर भी उन्होंने समान अधिकार से शॉट मारे और 64 गेंदों पर वनडे में अपना 43वां अर्धशतक पूरा किया। भारत के खिलाफ उनका 12वां पचासा है। रविंद्र जडेजा पर गेंदबाज के सिर के ऊपर से लगाया गया उनका छक्का दर्शनीय था। सरफराज ने स्ट्राइक रोटेट करने पर ध्यान दिया, लेकिन अपनी 66 गेंद की पारी में केवल दौ चौके लगाने के कारण उन पर बड़े शाट खेलने का दबाव था। कुलदीप ने इसका फायदा उठाया और पाकिस्तानी कप्तान को कवर में कैच देने के लिये मजबूर किया। आसिफ अली (30) ने भुवनेश्वर के एक ओवर में दो गगनदायी छक्के लगाये। पारी का यह 42वां ओवर था जिसमें 22 रन बने। भुवनेश्वर ने इससे पहले अपने सात ओवर में केवल 17 रन दिये थे।
भारतीय गेंदबाजों ने पाकिस्तान पर जल्द ही दबाव बना दिया। शोएब और आसिफ के आउट होने से इसके बाद एकमात्र बाउंड्री 47वें ओवर की आखिरी गेंद पर लगी। रोहित शर्मा ने भुवनेश्वर की जगह बुमराह को गेंद सौंपी जिन्होंने मलिक को आउट करके भारत को बड़ी सफलता दिलायी। महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी दायीं तरफ डाइव लगाकर खूबसूरत कैच लिया। मलिक ने अपनी पारी में चार चौके और दो छक्के लगाये। चहल ने आसिफ को बोल्ड करके पाकिस्तान की डेथ ओवरों की योजना पर पानी फेरा। मोहम्मद नवाज 15 रन बनाकर नाबाद रहे जबकि शादाब खान ने दस रन बनाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here