सरयू में पलटी नाव, छह सवारियां डूबीं …

0
86

अयोध्या,5 सितंबर । सरयू नदी में बुधवार को बड़ा हादसा हो गया। अपराह्न करीब दो बजे आधा दर्जन से अधिक यात्रियों को बैठाकर उफनाई नदी में नौका विहार कराने ले जा रही मोटर बोट सरयू की मध्य धारा में पुल के तीसरे आधार स्तम्भ से टकराकर पलट गयी। इसके चलते नाविक समेत सभी यात्री डूब गए।
किसी तरह मोटर बोट का नाविक आधार स्तम्भ से फंसे बोट से निकलकर बाहर आ गया और उसने तैर कर जान बचाने की कोशिश की। नदी की तेज धारा में संघर्ष करते इस नाविक को दूसरे बोट चालकों ने बचा लिया।
एक नाविक के भी बच जाने की अपुष्ट सूचना है। इसके अलावा मोटर बोट और आधार स्तम्भ के बीच नदी की धारा में चार अन्य यात्रियों में से दो युवकों को पुलिस के जवानों व गोताखोर जीवित बाहर निकालने में सफल रहे। फिर भी उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। दोनों को श्रीराम चिकित्सालय में उपचार के लिए ले जाया गया है। दो अन्य यात्री अभी आधार स्तम्भ में ही फंसे हुए हैं। पुलिस के गोताखोरों ने उन्हें निकालने के लिए क्रेन की डिमांड की है। सरयू घाट पर मौजूद मंडलायुक्त मनोज कुमार मिश्र व डीआईजी ओंकार सिंह ने क्रेन मंगवाने का निर्देश दिया है। मिली जानकारी के मुताबिक रविकुमार पुत्र बसंतलाल निवासी ग्राम डंडवा जनपद खलीलाबाद की एक वर्ष की बेटी नैना के मुंडन संस्कार में परिवार के सदस्यों के अलावा रिश्तेदार भी बुधवार को अयोध्या आए थे। इसी आयोजन में शामिल होने आए मोनू पुत्र मेवालाल आयु करीब 20 वर्ष, जोगिन्दर पुत्र रामकरन आयु 25 वर्ष, बहनोई बहादुर आयु 30 वर्ष के अलावा पिन्टू पुत्र मिश्रीलाल आयु करीब 25 वर्ष मोटर बोट में एक साथ सरयू नदी में नौका विहार पर निकले थे। इनमें से मोनू व पिन्टू को जीवित नदी से बाहर निकालकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शेष डूबे हुए लोगों की खोज जारी है। पता चला है कि इस बोट में यात्रियों की फोटो खींचने के लिए छोटू पुत्र नवमीलाल निवासी छोटी देवकाली, अयोध्या भी था। अभी तक उसकी कोई जानकारी नहीं मिली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here