गर्भवती महिला ने बस स्टैंड के शौचालय में दिया बच्चे को जन्म, देरी से इलाज होने पर नवजात ने तोड़ा दम

0
115

देहरादून,2सितम्बर।उत्तराखंड में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है, जहां पर इलाज करवाने आई गर्भवती महिला को डॉक्टरों ने दवाईयां देकर घर भेज दिया। इसी बीच महिला ने बस अड्डे के शौचालय में बच्चे को जन्म दे दिया। इसके बाद जब पति महिला और बच्चे को इलाज के लिए अस्पताल ले गया तो समय पर इलाज ना होने से बच्चे ने अपना दम तोड़ दिया।
चोरगलिया की रहने वाली भुवन चंद्र परगाई की पत्नी हेमा परगाई गर्भवती थी। भुवन की पत्नी का इलाज महिला अस्पताल में चल रहा था। भुवन अपनी पत्नी को लेकर अस्पताल में चेकअप करवाने के लिए पहुंचा। इसी बीच डॉक्टर ने महिला को बाहर से अल्ट्रासाउंड करवाने के लिए भेज दिया। इसके बाद डॉक्टर ने रिपोर्ट देखकर महिला को दवाईयां देकर घर भेज दिया। इसी बीच जब पति अपनी पत्नी को लेकर बस स्टैंड पर पहुंचा तो महिला के प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। महिला ने बस स्टैंड के शौचालय में बच्चे को जन्म दे दिया। इसके बाद जब पति के द्वारा महिला और नवजात बच्चे को इलाज के लिए अस्पताल में ले जाया गया तो उनका डॉक्टरों के द्वारा अच्छे ढंग से इलाज नहीं किया गया। इसके बाद बच्चे की हालत बिगड़ने पर लगभग 3 घंटे के बाद डॉक्टरों के द्वारा उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया गया। पति के द्वारा महिला और बच्चे को हायर सेंटर ले जाया गया, जहां बच्चे को मृत घोषित कर दिया गया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here