विदेशी विद्यार्थी भी लेंगे सीएसए में शिक्षा

0
77

कानपुर। सब कुछ ठीक रहा तो चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (सीएसए) में विदेशों से आकर छात्र-छात्राएं पढ़ाई करेंगे। यहां के छात्र भी उनकी यूनिवर्सिटी में जाकर शिक्षा ग्रहण कर सकेंगे। सीएसए का विदेशों की यूनिवर्सिटी से जल्द ही करार होगा। पहले चरण में शिक्षकों के प्रशिक्षण की तैयारी है। ताइवान, नीदरलैंड और इजरायल के कृषि विश्वविद्यालयों से बातचीत चल रही है।

पांच विश्वविद्यालयों में चलेंगे कोर्स

आइसीएआर (इंडियन काउंसिलिंग फॉर एग्रीकल्चर रिसर्च) के सहयोग से देश के पांच विश्वविद्यालयों में कोर्स चलाया जाएगा। इसमें बेंगलुरु, महाराष्ट्र, बिहार, हरियाणा के साथ उत्तर प्रदेश में सीएसए को चयनित किया गया है।

ड्यूल डिग्री प्रोग्राम चलेगा

सीएसए और विदेशों की यूनिवर्सिटी के बीच में पीएचडी के ड्यूल डिग्री प्रोग्राम की योजना बनाई गई है। छात्र-छात्राओं को दोनों ही विश्वविद्यालय की संयुक्त रूप से उपाधि हासिल होगी।

कृषि तकनीक का होगा विस्तार

इस तरह के ड्यूल डिग्री प्रोग्राम से कृषि तकनीक का विस्तार होगा। इसमें जहां विदेशी छात्र देश की पुरातन तकनीक से रूबरू होंगे, वहीं अपने यहां के छात्रों को विदेश की नवीन तकनीक की जानकारी मिलेगी। फसलों पर शोध होगा, जबकि नई प्रजातियों पर काम किया जाएगा।

अलग से बनेगा हॉस्टल

प्रोग्राम के अंतर्गत विदेशी छात्रों के लिए अलग से हॉस्टल बनाया जाएगा। ये अन्य हॉस्टलों से कुछ दूरी पर रहेगा। छात्रावास के लिए अलग बजट भी जारी होगा।

ड्यूल डिग्री कार्यक्रम पर बातचीत लगभग फाइनल है। इसको किस तरह से संचालित किया जाना है, इस पर मंथन चल रहा है। शिक्षकों की पहले ट्रेनिंग होगी।

-डॉ. एचजी प्रकाश, निदेशक शोध सीएसए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here