यूपी : बकरों के बाजार में मंहगाई रफुचक्कर

0
221

लखनऊ। बकरों के बाजार में मंहगाई रफुचक्कर दिख रही भाई। दामा पूछों तो हवा निकल जाए। केवल यही लगें की रहने दो भाई, लेकिन नही जमकर बिक रहे बकरें। कुर्बानी के त्योहार बकरीद में अभी पूरे दो दिन बाकी है मगर आसमान छूती मंहगाई के बावजूद बकरों के बाजार ने पूरी रफ्तार पकड़ ली है।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की बकरा मंडी में एक से बढ़कर एक ऊंची नस्ल के बकरे मौजूद हैं जिनकी कीमत भी नस्ल के मुताबिक काफी ऊंची है। चैक बकरा पर लगी मंडी में इस बार अभी तक सबसे महंगे अजमेरी नस्ल के बकरों में से एक की कीमत ड़ेढ़ लाख रूपए लग चुकी है। इनके मालिक मूसा भाई का कहना है कि वो इन बकरों को वे खासतौर से राजस्थान से लेकर आएं हैं। वहीं इस बार आई आई एम रोड पर बनाई गयी नई बकरा मंडी में भी बकरों की कीमत काफी ऊंची लग रही है।

इस मंडी में जमनापारी नस्ल की काफी मांग है। जमनापरी बकरों के व्यापारी साबिर भाई ने बताया कि उन्होंने एक बकरा 80 हजार का बेचा। इन पारंपरिक मंडियों के ऑन लाइन बकरा बाजार सजा हुआ है। कई वेबसाइटों पर अलग-अलग कीमतों पर बकरे मिल रहे हैं। खरीददारों के अनुसार गत वर्ष की अपेक्षा इस बार मंडी में बकरों के दामों में बढ़ोतरी हुई है। सरफराजगंज से बकरा लेने आए मोहम्मद मेंहदी ने बताया कि दो और चार दातों वाले डेढ़ साल तक की उम्र के बकरे कुरबानी के लिए सबसे बेहतर होते हैं। छह दांतों वाले बकरे बूढ़े होते हैं और कुरबानी के लिए इनको नहीं लेना चाहिए।

चैक बकरा मंडी में अल्वर नस्ल के सफेद रंग के दो बकरे भी लोगों का ध्यान आकर्षित कर रहे हैं। इनका वजन 50-50 किलो का है। दोनों की कीमत दो लाख 35 हजार रुपये है। बालागंज के रहने वाले बकरों के मालिक सलीम बताते हैं। इनके नाम गाजी और बहादुर रखा गया है। बकरा मंडी पर भी मंहगाई का असर साफ नजर आता है। खरीदार अपनी आर्थिक स्थिति के अनुसार बकरे खरीद रहे हैं। खरीदार नेहाल रिजवी ने बताया की बकरीद के त्योहार में अभी कुछ दिन शेष रह गये हैं मगर उनकी कीमतें आसमान छू रही हैं। उन्होंने बताया कि वर्ष की अपेक्षा इस बार कीमतें अधिक हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here