कानपुर : कमीशन के लॉलीपॉप से चल रहे साउथ के नर्सिंगहोम

0
444

वर्ल्ड खबर एक्सप्रेस न्यूज
कानपुर : नौबस्ता से लेकर गल्लामंडी तक खुले नर्सिंग होम में इलाज भले ही न मिले लेकिन कमीशन मिलना फिक्स रहता है कमीशन के खेल में मरीजों की जेब तो खाली होती ही है संसाधनों व डॉक्टरों की लापरवाही के चलते मरीजों की जान भी चली जाती है ।

गुरुवार को बिधनू के ऑर्किड नर्सिंग होम में आशाबहु की कमीशनखोरी व डॉक्टर की लापरवाही के चलते जच्चा बच्चा की मौत हो गयी थी जिसके बाद कई घँटों तक आक्रोशित परिजनों ने बवाल काटा और न्याय की मांग पर डटे रहे उधर मौके पर पहुंचे सीओ घाटमपुर ने नर्सिंगहोम संचालक डॉ पवन के खिलाफ 304 ए पर मुकदमा दर्ज कर लिया लेकिन डॉक्टर की गिरफ्तारी नही की ।

कमीशन के खेल में भूल गयी अपना फर्ज

बताते चले आशा बहुओं की नियुक्ति प्रत्येक गॉव में होती है जिनका मुख्य कार्य गॉव की गर्भवती महिलाओं को सरकारी अस्पताल में सुरक्षित प्रसव कराने के लिए की गयी है ।

हर महीने कमीशन की लगती है क्लास

नर्सिंगहोम संचालक क्षेत्र की आशाबहुओं व झोलाछाप डॉक्टरों से सेटिंग बनाकर हर महीने उनकी एक मीटिंग करते है जिसमें उन्हें मरीजो को बहला फुसला कर उनके नर्सिंग होम लाने की जानकारी के साथ हो 40 से 50 प्रतिशत कमीशन का लालच दिया जाता है।

क्या बोले जिम्मेदार
बिधनू सीएचसी के चिकित्साअधिक्षक एसपी यादव ने बताया कि वो स्वयं मामले की जांच करेंगे यदि आशा बहु की गलती है तो उसके ऊपर सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here