28 से शुरू होगा सावन का महीना…..

0
133

कानपुर नगर 23 जुलाई | देवाधि देव महादेव भगवना शिव, जिनका प्रीय महीना सावन है और इसीलिए हिन्दू धर्म में सावन महीने का खास महत्व है। इस महीने में भगवान शंकर की पूजा की जाती है। ऐसी मान्यता है कि सावन के महीने में सोमवार को व्रत रखने और भगवान शंकर की पूजा करने वाले भक्तों को मनवांछित जीवनसाथी प्राप्त होता है और जीवन में सुख-समृद्धि बढती है। हर उम्र के लोग श्रावस मास के सोमवार को अपनी मनोकामना पूर्ण होने के लिए तथा भगवान शंकर के प्रति अपनी श्रद्धा प्रकट करने के लिए उपवास राते है।
28 जनवरी की उदया तिथि से सावन महीने की शुरूआत होगी। वैसे इस वर्ष श्रावण मास की शुरूआत 27 जुलाई से हो रही है लेकिन हिन्दू मान्यता के अनुसार सूर्य उदय के साथ काल की गणना व त्योहार माने जाते है। इस लिए सावन उदया तिथि के हिसाब से 28 जुलाई से शुरू होगा। अगले माह 26 अगस्त को श्रावण मास का अन्तिम दिन होगा, इस दिन सोमवार है। वैसे तो लोग सावन के सोमवार में उपवास रखते है लेकिन बहुत से लोग सावन के महीने में आने वाले पहले सोमवार से ही 16 सोमवाद व्रत की भी शुरूआत करते है। सावन महीने की एक बात और खास है  िकइस महीने में मंगलवार का व्रत भगवान शिव की पत्नी देवी पार्वती के लिए किया जाता है। श्रावण के महीने में किए जाने वाले मंगवार व्रत को मंगला गौरी व्रत कहा जाता है। ऐसा माना जाता है कि सोमवार की शाम को शिव चालीसा पढने से भोलेनाथ प्रसन्न होकर भक्तो की मनोकामना पूर्ण करते है।

व्रत के चार सोमवार व उनकी तिथियां
इस वर्ष श्रावण मास में 4 सोमवार पड रहे है। इन चारों सोमवारों को शिव जी का विशेष पूजन-अर्चन होता है। मंदिरो का भव्य श्रृंगार किया जाता है। शिव जी को प्रसन्न करने के लिए रूद्धाभिषेक कराये जाते है। इा साल सावन केे महीने में 4 सोमवार पड रहे है, जिसमें 30 जुलाई को पहला, 6 अगस्त को दूसरा, 13 अगस्त को तीसरा और 20 अगस्त को चैथा सोमवार पडेगा। 11 अगस्त को हरियाली अमावस्या पड रही है। अगस्त माह में 26 अगस्त सावन का अंतिम दिन होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here