कानपुर( हाल ए हैलट ) ; मासूम बेटी की लाश को सीने से लगा भटकती रही बेबस माँ

0
258

कानपुर,8 जुलाई |एलएलआर अस्पताल (हैलट) में अव्यवस्था और संवेदनहीनता कम होने का नाम नहीं ले रही है। मरीजों का दर्द, आंसू और उनकी चीत्कार सुनने वाला कोई नहीं है। अस्पताल में शनिवार को आत्मा झकझोर देने वाले एक नजारे को देखकर हर किसी की आंखें नम हो गई। न्यूरो साइंस विभाग में चार साल की बच्ची ने व्यवस्था के अभाव में दम तोड़ दिया। गम में डूबे घरवालों का दर्द तब और बढ़ गया जब बच्ची का शव ले जाने के लिए शव वाहन तक नहीं मिला। मासूम की मां और मामा शव को लेकर भटकते रहे। इमरजेंसी से न्यूरो साइंस विभाग, प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक और बाल रोग चिकित्सालय तक चक्कर काटते रहे। आखिर में थक हारकर निजी वाहन से शव ले गए। घरवालों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया है।

उन्नाव के कचहरी रोड निवासी तानू की चार वर्षीय बेटी सेजल शुक्रवार शाम को सिर पर ईट गिरने की वजह से गंभीर रूप से घायल हो गई। उसे एलएलआर अस्पताल की इमरजेंसी में न्यूरो सर्जन डॉ. मनीष सिंह के अंडर में भर्ती कराया गया। कुछ देर बाद बच्ची को वार्ड नंबर चार के बेड नंबर 29 में शिफ्ट कर दिया गया। देर रात उसकी तबियत बिगड़ गई। घरवालों के मुताबिक डॉक्टर और नर्स से कहा गया, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। सेजल को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। शनिवार सुबह आठ बजे ऑक्सीजन लगाया गया। उस दौरान बच्ची की हालत और खराब हो गई। उसे न्यूरो साइंस भवन के एनओटी में भेज दिया गया। कुछ ही देर बाद उसकी मौत हो गई। मामा शीलू उसके शव को लेकर भटकता रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here