कानपुर: सफलता के साथ अच्छे इंसान बने आईआईटियंस : राष्ट्रपति

0
153
; दो दिवसीय कानपुर दौरे पर आये राष्ट्रपति पहले दिन आईआईटी के 51वें दीक्षांत समारोह में हुए शामिल
कानपुर, 28 जून । आईआईटी कानपुर के 51वें दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में भाग लेने पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आईआईटी के छात्रों को संबोधित किया। यहां पर उन्होंने कहा, सफलता पाना एक अलग बात है, लेकिन इसके साथ अच्छा इंसान बनना बहुत बड़ी बात है।
ऐसे में मैं उम्मीद करता हूं कि उच्च तकनीक हासिल करते हुए यहां के आईआईटियंस सफलता के साथ अच्छा इंसान बनने का प्रयास करें, जिससे समाज को नई दिशा मिल सके। उन्होंने कहा कि असफलता से छात्रों को निराश नहीं होना चाहिए। सकारात्मक सोच के साथ लगातार मेहनत करते रहने चाहिये और एक दिन सफलता जरूर मिलेगी। राष्ट्रपति ने कहा, सफलता व अच्छा इंसान के रूप में अपने को स्थापित कर सामाजिक जिम्मेदारियों का निर्वाह करें, जिससे समाज व देश को नई दिशा मिल सके। आप लोगों की पढ़ाई अब पूरी हो चुकी है और गृहस्थ जीवन के साथ सामाजिक जीवन में प्रवेश करने जा रहे हैं। इसलिये सामाजिक जिम्मेदारियों का सदैव निर्वहन करें, तभी सफलता सही मायने में खरी मानी जाएगी जब आप अच्छा इंसान बनेंगे। राष्ट्रपति ने युवा पीढ़ी को सलाह दी कि समाज के प्रति संवेदनशील बने। पैसा, नाम, शोहरत तो मिलेगा ही। उन्होंने सफलता के चार मंत्र भी दिये, कहा कि बड़ा सोचें, अनुशासन रखें, विनम्र रहें और दूसरों से प्रेरणा लें। कहा कि, जो इन चार मंत्रों को जीवन में उतार ले उसकी सफलता में कोई बाधा पैदा नहीं हो सकती। उन्होंने कहा कि छात्रों को असफलता से निराश नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमेशा आगे बढ़ते रहिए एक दिन सफलता जरूर मिलेगी। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आईआईटी के कार्यक्रम में लगभग डेढ़ घंटे मौजूद रहे। उन्होंने पहला एक घंटा आईआईटियंस के साथ गुजारा और आधा घंटा आईआईटी परिसर में ही सीएसआरएल सुपर-30 के बच्चों और स्टाफ से मिले। यहां पर पांच टॉपरों को सम्मानित किया। राष्ट्रपति ने इन्हे दिये मेडल दीक्षांत समारोह में आईआईटी के कुल 1576 छात्रों को उपाधियां प्रदान की गयीं। जिनमें 239 छात्रायें व 1337 छात्र उपाधि ग्रहण किये। इनमें से पांच छात्रों को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गोल्ड मेडल देकर सम्मानित किया, जिनमें संगणक विज्ञान एवं अभियांत्रिकी विभाग के सक्षम शर्मा (बीटेक) को प्रेजिडेंट गोल्ड मेडल, गणित एवं वैज्ञानिक कम्प्यूटिंग पाठ्यक्रम की कनूप्रिया अग्रवाल (बीएस मैथ, एमटी सीएसई) को डायरेक्टर गोल्ड मेडल, विद्युत अभियांत्रिकी विभाग के सिमरत सिंह (बीटेक) को डायरेक्टर गोल्ड मेडल, संगणक विज्ञान एवं अभियांत्रिकी विभाग की श्रुति अग्रवाल (बीटेक) को रतन स्वरूप प्राइज, बेस्ट आल राउंड ग्रेजुएटिंग स्टूडेन्ट्स के लिये पदार्थ विज्ञान एवं अभियांत्रिकी विभाग के अर्जक भट्टाचार्य (एमटेक) को डा. शंकर दयाल शर्मा मेडल से सम्मानित किया गया। मंच पर यह रहे मौजूद आईआईटी के 51वें दीक्षांत समारोह में जो मंच तैयार किया गया था उसमें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ उनकी पत्नी सविता कोविंद, उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक, कैबिनेट मंत्री सतीश महाना, आईआईटी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर के चेयरमैन आरसी भार्गव, आईआईटी डायरेक्टर अभय करींदकर और डिपार्टमेंट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी के सचिव प्रोफेसर अशुतोष शर्मा मौजूद रहे। सेना के क्षेत्र में करेंगे रात्रि विश्राम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद कानपुर के दो दिवसीय दौरे पर आये हुये हैं। आईआईटी के दीक्षांत समारोह के बाद राष्ट्रपति सीधे सेना के कैंट क्षेत्र स्थित एमईएस के लिये रवाना हो गये। यहीं पर वह रात्रि विश्राम करेंगे और अपने करीबियों के साथ मुलाकात भी करेंगे। बाकी का स्टाफ ओईएफ गेस्ट हाउस में रुकेगा। एमईएस गेस्ट हाउस में रात्रि विश्राम करने के बाद शुक्रवार सुबह 10.50 बजे वे सिविल लाइंस स्थित रागेंद्र स्वरूप ऑडिटोरियम में आयोजित कार्यक्रम में सम्मिलित होने के लिए निकलेंगे। 11 से 12 बजे के बीच वे कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। यहां पर राष्ट्रपति बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ वार्ता करेंगे और वहीं से रिमोट के जरिये कचहरी स्थित बार एसोसिएशन के नवनिर्मित हाल का उद्घाटन करेंगे। दोपहर सवा 12 बजे राष्ट्रपति चकेरी एयरपोर्ट जाएंगे और 12.25 बजे कैबिनेट मंत्री सतीश महाना विदाई देगें और इलाहाबाद के लिए प्रस्थान करेंगे। राष्ट्रपति शहर में अपने तीसरे दौरे में पहली बार कुल 26 घंटे 50 मिनट तक रहेंगे।
राज्यपाल ने की अगवानी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद गुरुवार को सुबह 9ः45 पर चकेरी एयरपोर्ट पर विशेष विमान से पहुंचे। राष्ट्रपति के साथ उनकी पत्नी सविता कोविंद बेटा प्रशांत कोविंद भी अपने शहर आये। एयरपोर्ट पर राज्यपाल रामनाईक, मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि के रूप में महाराजपुर विधायक व कैबिनेट मंत्री सतीश महाना ने उनकी अगवानी की। यहां से वे सेना के हेलीकाप्टर से 10ः05 पर आईआईटी पहुंचे। 21 कमांडो के घेरे में रहे राष्ट्रपति राष्ट्रपति की सुरक्षा को लेकर सेना के साथ जिला प्रशासन व पुलिस विभाग का पूरा अमला मौजूद रहा। लेकिन दिल्ली से आये विशेष 21 कमांडो राष्ट्रपति के पहले घेरे में मुस्तैदी से मौजूद रहे। वहीं करीब दो दर्जन कमांडो सादी वर्दी में भी पल-पल की टोह लेते रहे।
इसके साथ ही अपर पुलिस महानिदेशक अविनाश चन्द्र, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखिलेश कुमार मीणा, पुलिस अधीक्षक पूर्वी अनुराग आर्या, पुलिस अधीक्षक पश्चिमी संजीव सुमन, पुलिस अधीक्षक दक्षिणी रवीना त्यागी सहित कई सर्किल के क्षेत्राधिकारी व सैकड़ों पुलिस कर्मी मौजूद रहे। इसके अलावा प्रशासनिक जिम्मेदारी के लिये मंडलायुक्त सुभाष चन्द्र शर्मा, जिलाधिकारी विजय विश्वास पंत, अपर जिलाधिकारी नगर सतीश पाल, नगर आयुक्त संतोष कुमार शर्मा, मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक आनंद सहित दर्जनों अधिकारी मौजूद रहे। इसके अलावा राष्ट्रपति के शहर में होने के चलते जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन के साथ सेना के जवान चौकन्ना हैं। जगह-जगह भारी फोर्स लगी हुई है और उनके कार्यक्रम स्थलों के आस-पास के मकानों की छतों पर जवान असलहों से लैस मुस्तैदी से सुरक्षा में लगे हुये हैं। तीसरी बार अपने शहर आये राष्ट्रपति कानपुर की गलियों से रायसीना हिल्स तक पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद तीसरी बार गुरुवार को कानपुर पहुंच गये, लेकिन इसके पहले उन्होंने कभी कानपुर में रात्रि विश्राम नहीं किया। यहां तक की कल्याणपुर थानाक्षेत्र के इंदिरा नगर स्थित अपने आवास भी नहीं गये थे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद पहली बार कल्याणपुर के ईश्वरीगंज गांव आये थे। उन्होंने यहीं से स्वच्छता ही सेवा का पूरे देश में कानपुर से आगाज किया था। दूसरी बार राष्ट्रपति चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में आयोजित अंतरराष्ट्रीय सेमिनार और वीएसएसडी कॉलेज में बीए-एलएलबी भवन का लोकार्पण करने शहर आए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here