महाशिवरात्रि पर दो तारीखों को लेकर उलझन में भक्त, जानें किस दिन महाशिवरात्रि मनाना होगा शुभ

0
50

नई दिल्ली : इस बार महाशिवरात्रि पर भोले के भक्त दो तारीखों को लेकर असमंजस में है। कि व्रत किस दिन रखा जाए, 13 या 14 फरवरी को। महाशिवरात्रि का पर्व फाल्गुन माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाया जाएगा लेकिन इस साल 13 फरवरी को पूरे दिन त्रयोदशी तिथि है और मध्यरात्रि में 11 बजकर 35 मिनट से चतुर्दशी तिथि प्रारंभ होगी। जो अगले दिन यानी 14 फरवरी को पूरे दिन रहेगी और रात 12 बजकर 47 मिनट पर समाप्त होगी। ऐसे में सभी लोग इसी दुविधा में है कि महाशिवरात्रि 13 फरवरी को मनाई जाए या 14 फरवरी को?

Image result for शिव

क्या कहते है ग्रन्थ

धर्मसिंधु नामक ग्रन्थ के अनुसार, “परेद्युर्निशीथैकदेश-व्याप्तौ पूर्वेद्युः सम्पूर्णतद्व्याप्तौ पूर्वैव।।” यानी चतुर्दशी तिथि दूसरे दिन निशिथ काल में कुछ समय के लिए हो और पहले दिन सम्पूर्ण भाग में तो पहले दिन ही इस व्रत को करना चाहिए।

इसे कहते है निशीथ काल

रात के मध्य भाग के समय को कहा जाता है जो 13 तारीख को कई शहरों में अधिक समय तक है। इसके मुताबिक उज्जैन, मुंबई, कर्नाटक, तमिलनाडु, नागपुर, चंडीगढ़, गुजरात में महाशिवरात्रि का व्रत 13 तारीख को मनाया जाएगा। ऐसा इसलिए क्योंकि इन राज्यों में 13 तारीख को ही चतुर्दशी तिथि सम्पूर्ण रूप से निशिथ व्यापनी रहेगी जबकि पूर्वी भारत में रात्रिमान के अनुसार निशिथ काल 14 फरवरी 12 बजकर 47 मिनट पर समाप्त हो रही है इसलिए इन क्षेत्रों में महाशिवरात्रि 14 फरवरी को मनाई जाएगी। शास्त्रों के अनुसार महाशिवरात्रि व्रत मंगलवार, रविवार और शिवयोग में यह अत्यंत शुभ और पुण्यदायी होता है।

13 फरवरी को व्रत करना होगा शुभ

सामान्य लोगों से लेकर ज्योतिषी और पंडित तक एक राय नहीं बना पा रहे हैं कि महाशिवरात्रि 13 को मनेगी या 14 फरवरी को। 13 और 14 फरवरी दोनों दिन चतुर्दशी तिथि लग रही है। तमाम शास्त्रों के अनुसार जिस दिन त्रयोदशी और चतुर्दशी का संयोग हो उस दिन महाशिवरात्रि का व्रत करना चाहिए। 13 फरवरी को ऐसा ही हो रहा है।

Image result for शिव

यह शुभ संयोग

जो लोग 13 फरवरी को महाशिवरात्रि का व्रत करेंगे उन्हें एक साथ कई व्रतों का पुण्य प्राप्त होगा। पहला संयोग तो यह है कि 12 तारीख की मध्यरात्रि के बाद सूर्य संक्रांति हो रही है। सूर्य मकर से कुंभ राशि में पहुंचेंगे। इससे 13 को संक्रांति का पुण्यकाल रहेगा।

छुट्टी को लेकर असमंजस में है भक्त

उज्जैन महाकाल मंदिर प्रबंधन ने बताया 13 फरवरी को नगर सहित जिले में शिवरात्री का पर्व मनाया जाएगा जबकि शासन द्वारा 14 फरवरी को अवकाश घोषित की है। न्यायालय अवकाश 13 को है। ऐसे में शिवभक्त असमंजस में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here