तीसरी बार अपने शहर कानपुर आ रहे राष्ट्रपति की अगवानी करेंगें सतीश महाना

0
207

कानपुर, 20 जून । राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 28 जून को तीसरी बार अपने शहर कानपुर आ रहें हैं। लेकिन पहली बार वह अपने शहर कानपुर में दो दिन रहेंगें। जिसको लेकर जिला प्रशासन तो तैयारियों में जुटा ही है तो वहीं सेना भी चौकन्ना है। गृह विभाग ने बुधवार को जिला प्रशासन को पत्र भेज अवगत करा दिया कि कानपुर में राष्ट्रपति की अगवानी उत्तर प्रदेश सरकार के औद्योगिक एवं अवस्थापना विकास मंत्री व कानपुर के महाराजपुर सीट से विधायक सतीश महाना करेंगें।

बता दें कि राष्ट्रपति बनने के बाद रामनाथ कोविंद दो बार अपने शहर आ चुके हैं और कुछ ही घंटे रूककर वापस चले गये। यहां तक कि अपने मूल जन्म स्थान कानपुर देहात के परौंख गांव भी नहीं गयें हैं और न ही कानपुर नगर के कल्याणपुर थानाक्षेत्र स्थिति इंदिरा नगर में अपने घर गयें।

राष्ट्रपति व तीनों सेना के सेनाध्यक्ष रामनाथ कोविंद 28 जून को आईआईटी के दीक्षांत समारोह में शामिल होने के लिए अपने शहर कानपुर आ रहे हैं। दो दिवसीय दौरे में राष्ट्रपति के कई कार्यक्रम लगे हुये हैं। गृह विभाग के उप सचिव धर्मचंद्र पांडेय ने जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह को को भेजे पत्र में कहा है कि राष्ट्रपति की अगवानी और विदाई के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने औद्योगिक एवं अवस्थापना विकास मंत्री सतीश महाना को नामित किया है।

सतीश महाना राष्ट्रपति की अगवानी भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान के बने हेलीपैड में करेंगें। इसके बाद उनके सभी कार्यक्रमों वह उनके साथ रहेंगें और विदाई भी महाना ही शहर से देगें। बताया जा रहा है कि लगभग सभी कार्यक्रम तय हो चुके हैं, लेकिन अब तक यह अधिकारिक घोषणा नहीं हो पायी कि रात्रि विश्राम कहां पर करेंगें। शायद सुरक्षा के लिहाज से इसे गोपनीय रखा जा रहा है। लेकिन सेना के पुख्ता सूत्रों का कहना है कि राष्ट्रपति सेना के कैंट क्षेत्र में स्थित एमईएस के इंस्पेक्शन बंगले में रूकेगें।

इसी के चलते सेना की गतिविधियों में तेजी आई है और छावनी में सख्ती बढ़ गयी है। हालांकि सेना के क्षेत्र में चौकसी बराबर रहती है पर जिस तरह बीते एक सप्ताह से बेस कैंप सहित जनपद में सेना चौकन्ना दिख रही है उससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि सेना को ऊपर से निर्देश मिल चुके हैं। आर्मी की इंटेलीजेंस टीम जनपद में बराबर सादी वर्दी में निगरानी कर रही है। वहीं शहर में आईटीबीपी का भी बेस कैंप है और वहां की भी इंटेलीजेंस बराबर निगरानी कर रही है।

बताते चलें कि राष्ट्रपति का एक कार्यक्रम आईटीबीपी बेस कैंप के पास नर्वल में भी लगा हुआ है। जिसके चलते आईटीबीपी को भी सतर्कता बरतने के निर्देश मिल चुके है। बताया जा रहा है कि राष्ट्रपति की सुरक्षा पूरी तरह से सेना के हवाले होगी। जिसमें स्थानीय पुलिस की भी भागीदारी रहेगी। एडीएम सिटी सतीश पाल ने बताया कि राष्ट्रपति के शहर आगमन पर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर 21 जून को सुबह 11 बजे से जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में बैठक की जाएगी।

जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि राष्ट्रपति की सुरक्षा को लेकर जिला प्रशासन तैयारियां पूरी कर चुका है। राष्ट्रपति भवन से जो जिम्मेदारी जिला प्रशासन को मिलेगी वह जिला प्रशासन बखूबी निभायेगा और जो जिम्मेदारी सेना को मिलेगी वह सेना संभालेगी। इसके लिये राष्ट्रपति भवन से मिलने वाले निर्देशानुसार जल्द ही सेना के साथ भी बैठक की जायेगी।

यह हैं संभावित कार्यक्रम

आईआईटी का 51वां दीक्षांत समारोह 28 जून को कम्युनिटी हॉल (ऑडिटोरियम) में आयोजित होगा। जिसमें बतौर मुख्य अतिथि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शिरकत करेंगें। यहां पर राष्ट्रपति एक घंटा (11-12 बजे) कैंपस में रहेंगे और पहले सत्र में प्रेसीडेंट गोल्ड मेडल समेत छह अन्य मेडल छात्र-छात्राओं को अपने हाथ से देंगे। दूसरे दिन यानी 29 जून को राष्ट्रपति पहले रागेंद्र स्वरूप ऑडोटोरियम में बार एसोसिएशन के कार्यक्रम में शामिल होंगे।

राष्ट्रपति बार एसोसिएशन के ऑडोटोरियम का शिलान्यास भी करेंगे। इसके बाद झण्डा गीत के रचयिता श्याम लाल गुप्त पार्षद के गांव नर्वल जाएंगे। यहां पर श्याम लाल गुप्त पार्षद के नाम पर पुस्तकालय, बाउंड्रीवाल व मुख्य द्वार का लोकार्पण कर सकते हैं। हालांकि अभी प्रशासन के पास नर्वल में राष्ट्रपति का कार्यक्रम नहीं आया है। लेकिन जिला प्रशासन संभावित कार्यक्रम को लेकर यहां पर भी हेलीपैड से लेकर अन्य सभी तैयारियां पूरी कर चुका है।

यहां पर पद्मश्री स्व. श्याम लाल गुप्त पार्षद की मूर्ति का अनावरण और कई अन्य प्रोजेक्ट का शुभारंभ करेंगे। बताते चलें कि पिछले दौरे में राष्ट्रपति ने श्यामलाल गुप्त पार्षद का जिक्र किया था और उनके जन्म स्थान पर देश के माननीयों को जाने की बात कही थी। जिससे उस ऐतिहासिक धरती पर विकास कार्य हो सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here