ट्रम्प ने ऊर्जा के स्रोत कोयले की खानों को बंद होने से बचाव के लिए दिए निर्देश

0
58

वाशिंगटन, 14 जून। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने ऊर्जा सचिव रिक पेरी को ऊर्जा के स्रोत कोयले की खानों और इससे चलने वाले संयंत्रों को बंद होने से बचाने के लिए तत्काल उपाय के निर्देश दिए हैं। इन उद्योगों को बंद किए जाने से हज़ारों कर्मियों को रोज़गार से हाथ धोना पड़ रहा है। पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कोयले के सयंत्रों से होने वाले प्रदूषण से बचने के लिए कोयले और आणविक संयंत्रों को बंद किए जाने की घोषणा की थी।

सन 2010 में ऊर्जा के स्रोत के रूप में 580 कोयले और आणविक संयंत्रों से 45 मेगावाट ऊर्जा का उत्पादन किया जाता था, जो सन 2018 में घट कर 30 मेगावाट रह गया। इससे एक सौ तीस कोयले की खानें और बंद करनी पड़ीं। यह क्रम यों ही चलता रहा तो सन् 2025 में मात्र 15 मेगावाट की और कटौती हो जाएगी। ओबामा प्रशासन ने इसका कारण ऊर्जा के अन्यान्य विकल्पों में प्राकृतिक गैस पर ज़ोर दिया था। तुलनात्मक दृष्टि से प्राकृतिक गैस से उत्पन्न ऊर्जा सस्ती थी और प्रदूषण मुक्त थी। ट्रम्प ने चुनाव अभियान के दौरान कोयले की खानों में काम करने वाले मज़दूरों के रोज़गार छिने जाने से उत्पन्न स्थिति के कारण कोयले की खानों को संजीवनी दिए जाने का वादा किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here