कानपुर :बिजली काटने पर सैकडों लोगां ने पार्षद के नेतृत्व में केस्को मुख्यालय पर दिया धरना

0
160

कानपुर, 12 जून । तिलक नगर स्थित लक्ष्मण बाग में रहने वाले लोगां के मकान में लगे विद्युत कनेक्शन को केस्को द्वारा काट दिया गया है। भीषण गर्मी में बिना बिजली और पानी से बिलबिलाये सैकडों लोगों को लेकर पार्षद कमल बेबी शुक्ला मंगलवार को केस्को मुख्यालय पंहुचे। जहां केस्को एमडी के न मिलने पर उन्होंने धरना देकर प्रदर्शन किया। इसके बाद चीफ इन्जीनियर से भेंट कर अपनी समस्या बताई और निदान करने की मांग की।

कांग्रेस पार्षद कमल बेबी शुक्ला ने बताया कि जो लोग आये है वह तिलक नगर लक्ष्मण बाग कालोनी के आवासों के मालिक है। नवाबगंज के पूरे एरिये के मालिक जमीदार त्रिजुगी नारायन थे और पीडितों के पूर्वजों को उन्होंने रहने के लिए 80 वर्ष पहले यह जगह दान में दी थी। उनकी मृत्यु के बाद पीडित बहैसियत उत्तराधिकारी मकान के मालिक हुए तथा उनके नाम से आधार कार्ड, वोटर लिस्ट राशन कार्ड के साथ बिजली मीटर कनेक्शन भी लगे हैं।

जिसका लोग लगातार भुगतान भी कर रहे हैं लेकिन यहां रह रहे लोगों की तीन जून को अवैधानिक रूप से बिजली काट दी गयी, जिसकी शिकायत जिलाधिकारी, मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री से भी की गयी। कहा सरकार घर-घर बिजली व पानी देने की बात कर रही है तो दूसरी तरफ गरीबों की बिजली काट रही है। कहा बिजली न होने से महिलायें और बच्चे बेहाल है। यह जगह सरकारी नहीं है यह दान की जगह है।

इस सम्बन्ध में जब बात की गयी तो अधिकारी जवाब न दे सकें। बताया जहां इन गरीबों की बिजली काट दी गयी वहीं उसी स्थान पर आफीसर्स कालोनी बनी है जिसकी बिजली नहीं काटी गयी। कहा एक माननीय जिनकी इस जमीन पर नियत खराब है और वह इस जमीन पर कब्जा करना चाहते है उनके इशारे पर विभाग द्वारा यह सब किया जा रहा है। उन्हांने केस्को के चीफ इंजीनियर एसके तिवारी को ज्ञापन देते हुए कहा कि गरीबों पर कृपा की जाये और तत्काल उनके कनेक्शन जोडे जायें।

कमल बेबी ने कहा यदि दो दिनो में विद्युत कनेक्शन नहीं जोडा गया तो वह ऊर्जामंत्री से मिलेंगें तथा उनकी समस्या का निदान न होने पर सभी लक्ष्मण बाग के रहने वाले लोग केस्को मुख्यालय प्रांगण में आत्म दाह कर लेंगे। इस अवसर पर सैकड़ों की संख्या में कालोनी में रहने वाले पुरूष, महिलायें तथा बच्चे मौजूद रहें। वहीं केस्को एमडी सौम्या अग्रवाल का कहना है कि मामले की जानकारी हुई है और कानूनी पहलुओं पर विचार कर आगे कदम बढ़ाये जायेंगें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here