शाहजहांपुर:गन्ने के खेत में मिला नौवीं की छात्रा का शव, हत्या का आरोप

0
47

शाहजहांपुर, 10 जून । उत्तर प्रदेश में शाहजहांपुर के निगोही थाना क्षेत्र के एक गांव में रविवार सुबह गन्ने के खेत में नौवीं की छात्रा का शव मिलने से हड़कम्प मच गया। छात्रा बीती रात से घर से गायब थी। परिजनों ने हत्या कर शव को फेंके जाने का आरोप लगाया है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। थाना क्षेत्र के गांव टिकरी निवासी अनिल गुप्ता की 16 बर्षीय बेटी नीलम बीती रात घर से गायब हो गई थी।

परिजनों को बेटी के गायब होने की जानकारी देर रात लगभग 12 बजे हुई, जिसके बाद वह पूरी रात नीलम की तलाश में लगे रहे लेकिन नीलम का कुछ पता नहीं चला। रविवार सुबह जब ग्रामीण खेतों की तरफ गए तो कटिया गांव के पास गन्ने के एक खेत में किशोरी का शव पड़ा देखा। खबर फैलते ही मौके पर ग्रामीणों की भीड़ इकट्टा हो गई। वहीं शव मिलने की खबर पर पहुंचे परिजनों ने शव की शिनाख्त नीलम के रूप में की। सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंचे निगोही एसओ सुनील शर्मा ने परिजनों व क्षेत्रीय लोगो से पूछताछ की और घटना से उच्च अधिकारियों को अवगत कराया, जिसके बाद सीओ सदर बलदेव सिंह खनेड़ा व फोरेंसिक टीम ने भी मौके पर जाकर जांच पड़ताल की। पुलिस ने पंचनामा भर कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पिता अनिल ने बताया की नीलम का इसी साल राम कुमार मेमोरियल इंटर कालेज से नौवीं कक्षा का फार्म भरवाया था। बीती रात उसने परिजनों के साथ खाना खाया और फिर सभी लोग सोने चले गए। रात 12 बजे जब उनकी आंख खुली तो बेटी को बिस्तर पर ना पाकर परिजनों के साथ रात में ही नीलम की तलाश शुरू की लेकिन उसका पता नहीं चल सका । अनिल ने किसी भी रंजिश से इंकार करते हुए आरोप लगाया है कि उनकी बेटी की हत्या कर शव को घर से डेढ़ किलोमीटर दूर खेत में डाल गया है। सीओ सदर बलदेव सिंह खनेड़ा ने बताया ​कि किशोरी रात से गायब थी। परिजन पुलिस को इत्तला दिये बगैर किशोरी को ढूंढते रहे। सुबह उसका शव बरामद हुआ है। प्रारम्भिक जांच में ऐसा लग रहा है ​​कि किशोरी ने कोई जहरीला पदार्थ खाया है।

पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही वास्तविकता का पता चल सकता है। पुलिस ने घर की महिलाओं से उठवाया शव किशोरी का शव मिलने के बादजहां परिजन व महिलाएं बेटी की मौत से गमजदा थे, वहीं इस घटना के बाद जब शव को सील करने की बात आई तो पुलिस की संवेदनहीनता देखने को मिली। निगोही पुलिस ने गांव से एक चादर मंगवाई और जिसके बाद खुद अथवा किसी पुरुष से शव को ना उठवा कर घर की महिला से ही शव को उठवा कर चादर पर रखवा दिया, जिसके बाद शव को सील कर कब्जे में ले लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here