कानपुर: महीनो से नही मिल रही लोगो को डाक सेवा  

0
120
:अपने स्थान पर प्राइवेट कर्मियों को लगाकर काम करा रहें है डाकियां
कानपुर नगर, सरकारी विभागों में फैला भ्रष्टाचार कहे, लापरवाही कहे या कर्मचारियों की मक्कारी। आप नाम भले ही कुछ ले लें लेकिन विभाग सरकारी ही होता है। इसी प्रकार एक सरकारी विभाग डाकघर जहां कर्मचारियों की लापरवाही का सीधा खामयाजा और परेशानी जनता को भोगनी पड रही है। न तो लोगो को ठीक प्रकार से डाक सेवाये प्राप्त हो रही है और न ही उनकी जरूरी पत्र उनके घर पहुंच रहे है। आलम उस पर यह कि कई क्षेत्रों में तो डाकिया घरों में डाक लेकर नही पहुंच रहे है तो कई इलाकों में यही डाकिया अपने स्थान पर प्राइवेट लोगो से डाक भिजवाने का काम कर रहे है और यह सब हो रहा है डाकघर के बडे अधिकारियो की नाक के नीचे। जी जहां शहर में कई ऐसे क्षेत्र में जहां महीनो से डाकिया नही पहुंचा है।
 बर्रा-5 के लोगो की माने तो पिछले 6-7 महीनो से उन्होने क्षेत्र में डाकिये की शक्ल ही नही देखी। यदि कोई जरूरी कागजात या पत्र उनका आता है तो उन्हे डाक कार्यालय जाना पडता है जहां कई चक्कर लगाने के बाद उन्हे डाक प्राप्त हो पाती है तो कभी कभी कहा जाता है कि डाक वापस चली गयी। ऐसे में लोगो की परेशानी और भी बढ जाती है। इतना ही नही कई राजसी आदतो के कुछ डाकिये तो ऐसे भी है तो फील्ड पर नही निकलते और उन्होने अपने चमचे पाल रखे है जिन्हे कुछ पैसा देकर वह अपने हिस्से का काम करवाते है। ऐसा नही भी नही कि विभाग में यह हो रहा हो और अधिकारियों को इसकी भनक न हो लेकिन वास्तव में यह हो रहा है और परेशानी जनता हो रही है। इसी प्रकार बडा चैराहा स्थित बडे डाकघर में जनता के लिए बैठे कर्मचारी लापरवाही बरतते नजर आते है। स्पीड पोस्ट या रजिस्ट्री का काउण्टरों पर भीड लगी होती है तो कर्मचारी कभी नेट न चलने का तो कभी कोई बहाना कर इधर उधर चले जाते है। कभी कभी तो लोगो को कहा जाता है कि यह काम उस काउण्टर पर हो गया जब व्यक्ति उस काउण्टर पर जाता है तो उसे दूसरा काउण्टर बता दिया जाता है। कर्मचारियों की लापरवाही से एसी गर्मी में रोजाना लोगों को परेशानी का सामना करना पडता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here