सपा-बसपा गठबन्धन में छोटे दलों को करेंगी शामिल!

0
57

लखनऊ,08 जून। लोकसभा चुनाव में भाजपा को परास्त करने के लिए सपा-बसपा छोटी पार्टियों को अपने पाले में लाने की रणनीति तैयार कर रही हैं। जिस क्षेत्र में जिसका बहुमत मजबूत होगा उसके लिए पांच से दस सीटें छोड़ने के तैयारी भी हो रही है। उत्तर प्रदेश में लोकसभा व विधानसभा उप चुनाव में भाजपा की हार से विपक्षी पार्टियों की एकता बढ़ी है। सपा का गोरखपुर और कैराना लोकसभा सीट पर उम्मीदवार उतारने का फार्मूला सफल रहा है। इसीलिए गठबन्धन का दायरा बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है।

लोकसभा चुनाव में उन पार्टियों को भी साथ लिया जा सकता है, जिनका अपने क्षेत्रों में बेहतर जनाधार है। जातीय आधार के साथ सपा-बसपा का साथ पाने के बाद सीट निकलने में आसानी होगी। इसलिए गठबंधन में छोटी-छोटी पार्टियों के लिए भी सीटें छोड़ने पर विचार चल रहा है। हालांकि यह फार्मूला पूरे देश में लागू करने की बातें चल रही है। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि उनकी पार्टी मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ गठबंधन के लिए तैयार है। अगर वह गठबंधन में रहते हैं तो ठीक है नहीं तो उनकी पार्टी अकेले चुनाव उतरने को तैयार है। खास तौर से भाजपा को हराने के लिए विपक्ष को एकजुट करने की वो लगातार कोशिश में जुटे हुए हैं। सूत्रों की मानें तो बसपा इसी फार्मूले के आधार पर उन सीटों पर दावेदारी कर रही है जिसमें वर्ष 2014 के चुनाव में वह दूसरे स्थान पर रही थी। इस हिसाब से देखा जाए तो उसके हिस्से करीब 36 सीटें आएंगी और सपा को 34 सीटें मिलेंगी।

इसके अलावा बचने वाली 10 सीटों को छोटी पार्टियों में बांटने पर विचार-विमर्श चल रहा है। इसमें रालोद को भी शामिल किया जा सकता है। कैराना में जिस तरह छोटी पार्टियां एक हुई उसका नतीजा सभी के सामाने है। इसीलिए छोटी पार्टियों के लिए सीटें छोड़ने का विचार-विमर्श चल रहा है। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव गोरखपुर में निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल (निषाद पार्टी) और कैराना में रालोद उम्मीदवार को मैदान में उतार कर बाजी पलट चुके हैं। अखिलेश का यह फार्मूला विपक्षी पार्टियों को भी रास आ रहा है।

अगर सब कुछ ठीक रहा तो क्षेत्रीय दलों का एक बड़ा समूह सपा-बसपा के इस फार्मूले पर ही चुनाव मैदान में उतरेगी। भाजपा प्रवक्ता चन्द्रमोहन की माने तो भाजपा कोई फार्मूले से डरने वाली नहीं है। हमारे प्रधानमंत्री मोदी और योगी ने गरीबों और वंचितों के लिए इतना काम कि है कि इसकी बदौलत हम सरकार बनायेंगे। चौपाल, गांव गरीब और अन्तिम व्यक्ति तक पहुंचने का हमारा अभियान चल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here