कानपुर :रोजेदारों पर भारी पड़ रही फलों की मंहगाई

0
89

– फलों की खरीदारी करते कानपुर के प्रसिद्ध नेत्र सर्जन डा0 महमूद रहमानी
कानपुर, 06 जून । गर्मी के दिनों में अमूमन फलों की आवक कम होती है, तो वहीं रमजान माह के चलते इनकी मांग बढ़ गयी है। मांग बढ़ने से इन दिनों फलों के दामों में रोजाना बढ़ोत्तरी हो रही है। ऐसे में फलों की मंहगाई रोजेदारों पर भारी पड़ रही है। इसके साथ ही दुकानदारों का कहना है आने वाले दिनों में भी फलों के दामों पर कमी होने की संभावना नहीं हैं।

मुस्लिम धर्म का इन दिनों पवित्र माह रमजान चल रहा है। जिसमें रोजेदारों को रोजा इफ्तारी के समय फलों की आवश्यकता होती है। यह भी कहा जा सकता है कि रमजान में फलों की मांग बढी है और इसी को देखते हुए फलों के दामों में आई उछाल रोजेदारों की परेशानी बढ़ा दी है। गर्मी में फलां की वैरायटी ज्यादा नहीं होती। लीची, आम, तरबूज, खरबूजा आदि ही इस मौसम के फल होते हैं। ऐसे में रमजान का महीना जिसमें रोजेदार को रोजा खोलने के समय खजूर के अलावा अन्य फलों को भी शामिल करते है।

रमजान माह में फलों की मांग को देखते हुए फलों के दामों में काफी बढोत्तरी हुई है। दूसरी तरफ फल व्यापारियों का कहना है कि बाजार में गर्मी के कारण फलों का आना कम है तो वहीं अभी तक दशहरी की आवक बाजार में पूरी तरह नहीं हो पायी है। गोल चौराहा के फल कारोबारी संजय गुप्ता ने बताया कि गर्मी माह में एक तो फलों की आवक कम होती हैं तो वहीं दूसरी तरफ फल जल्दी खराब होने की भी संभावना बनी रहती है। जिसके चलते फलों के दामों में उछाल आया है।

किदवई नगर के फल कारोबारी मो. इदरीश ने बताया कि ऐसा कोई फल नहीं है कि इन दिनों रोजा के चलते 10 से 30 रूपए प्रति किलो न बढ़ा हो। बताया कि इस समय तोतापरी आम 50 रूपये प्रति किलो बिक रहा है। वहीं लीची 110, सेब 140, तरबूज 20, खरबूजा 35, 25 से 30 में बिकने वाली कीवी 40 से 45 रूपये प्रति किलो बिक रही है।

रोजेदार मो. हसीब ने बताया कि फलों में मंहगाई आने से दिक्कतें तो आ रहीं पर रोजा तो रखना ही है। दुकानदारों का कहना है कि फलों में बढ़ोत्तरी के कारण रोजेदार इन दिनों कम फल खरीद रहे हैं। दुकानदारों ने बताया कि आने वाले दिनों में फलों के दामों में कमी होने के कोई आसार नहीं नजर आ रहें है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here