कानपुर : अनोखी मिसाल से शिक्षिका व छात्राओं ने पर्यावरण बचाओ का दिया संदेश

0
87

-स्कूटी को पेड़ की तरह से सजाकर स्लोगन के जरिए ’पेड़ लगाओ, धरती बचाओ’ के प्रति किया जागरूक
कानपुर, 05 जून । उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद में विश्व पर्यावरण दिवस बेहद अनोखे अंदाज में मनाया गया। एक कालेज की शिक्षिका स्कूटी को पेड़ों की पत्तियों को सजाकर पूरी तरह से खुद को पौधे की तहर स्कूल पहुंची। जहां उन्होंने छात्राओं के साथ मिलकर पर्यावरण बचाओ का संदेश देने के साथ ही पौधरोपण की लोगों से अपील की। इसी तरह एक स्कूल की छात्राओं ने चेहरे से पेड़ों की रंग कर पर्यावरण संरक्षण में भागीदार बनने के लिए प्रेरित किया।

बर्रा विश्व बैंक में रहने वाली प्रियंका जरौली स्थित सरदार पटेल स्कूल में शिक्षिका के पद पर कार्यरत है। मंगलवार को विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर शिक्षिका स्कूटी पर सेव ट्री, पेड़ बचाओ, धरती है स्वर्ग, धरती मां को बचाओ जैसे स्लोगन लिखे पोस्टरों व खुद को पेड़ की तरह तैयार कर निकली। पूरी तरह से पौधे के रूप लेकर शिक्षिका पहले तो पूरे क्षेत्र में स्कूटी से धूमी और पर्यावरण बचाओ का संदेश दिया। इसके बाद वह स्कूल पहुंची और छात्राओं के साथ मिलकर पर्यावरण जागरूकता के लिए लोगों से पौध रोपण कर उन्हें सहजने की अपील की। इससे पूर्व जब शिक्षिका पर्यावरण बचाओ का संदेश देते हुए स्कूल पहुंची तो वहां मौजूद छात्र-छात्राओं ने उनका जोरदार स्वागत किया। इस मौके पर शिक्षिका ने कहा, अगर प्रत्येक नागरिक व शहरी क्षेत्रों में रहने वाले लोग पर्यावरण प्रेमी हो जाए तो शहर हरा-भरा होगा और पर्यावरण संरक्षण को बल मिलेगा।

इसी प्रकार जूही इलाके में स्थित सरदार पटेल इंटर कालेज की छात्राओं ने भी पर्यावरण संरक्षण को लेकर अनोखी मिसाल पेश की। खुद को छात्राओं ने हरे रंग से रंग कर व शरीर पर पेड़ों की पत्तियां लगाकर पेड़ के रूप में पेश किया और लोगों से हरे पेड़ों को बचाने की अपील की। इस दौरान छात्राओं ने अपने चेहरे पर रंगों से जागरूकता स्लोगनों को लिखा गया था। जागरूकता अपील करते हुए छात्रा प्राणसी गोसाईं ने कहा, औद्योगीकरण तथा आधुनिक जीवनशैली को पर्यावरण के लिए हानिकारक माना जाता है।

प्रत्येक नागरिक को विश्व पर्यावरण दिवस पर संकल्प लेना चाहिए कि वह एक पौधा रोपण जरूर करेगा। शिक्षिका व स्कूली छात्राओं की समाजसेवी संगठनों व सरकारी विभागों के अफसरों ने भी अपने-अपने कार्यालय प्रांगण में पौध रोपण कर पर्यावरण जागरूकता के लिए गोष्ठी व अन्य कार्यक्रमों का आयोजन होते रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here