अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो-चिलचिलाती धूप में शहीद को अंतिम विदाई देने उमड़ा जनसैलाब

0
350
कानपुर, 04 जून । शहीद विजय पांडे को अंतिम विदाई देने के लिए लाखों लोगों ने नम आखों से विदाई देने पहुंचे। सठिगंवा गांव फतेहपुर निवासी किसान राजू पांडे के बेटे विजय पांडे आतंकी हमले में शहीद हो गए। रविवार को अखनूर सेक्टर के के पास स्थित इंटरनेशनल बार्डर पर पाक रेंजर्स ने फायरिंग की जिसमें दो जवान शहीद हो गए।

शहीद विजय पांडे का पार्थिक शरीर जैसे ही उनके गांव पहुंच हजारों लोग अमर शहीद विजय पांडे के अंतिम दर्शन करने के लिए पहुंचे। उनकी ममेरी वहन ज्योति शुक्ला ने बताया कि 15 जून को विजय पांडे का तिलक था और 20 जून को उसकी शादी थी इस घटना से पूरे घर का रो-रो कर बुरा हाल है हमारा घर तो टूट गया है

हमें अपने भाई का बदला चाहिए कहां है प्रधानमंत्री जी का 56 इंच का सीना जहां देश के जवान रोज शहीद हो रहे हैं ऐसे पाकिस्तान के ऊपर कोई कार्यवाही क्यों नहीं करते हैं प्रधानमंत्री जहां रमजान के महीने में कहां गया था कि कोई फायरिंग नहीं होगी अगर फायरिंग नहीं हुई तो यह जवान कैसे शहीद हो गए शहीद जवान विजय पांडे को पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई जिसमें सैकड़ों लोग कानपुर से भी शहीद के अंतिम दर्शन करने को पहुंचे।

जिसमें लाखों लोगों ने नम आखो के साथ कहां। जब तक सूरज चांद रहेगा विजय पांडे का नाम रहेगा। विजय पांडे की कुर्बानी याद करेगा हर हिंदुस्तानी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here