कानपुर :मुजरिम से ज्यादा खतरनाक है तम्बाकू : एसएसपी

0
100

कानपुर, 31 मई । मुजरिम से स्थानीय स्तर पर समाज प्रभावित होता है और पुलिस की सख्ती के चलते उस पर पूरी तरह से रोक लगाया जा सकता है। लेकिन तम्बाकू एक ऐसा व्यसन है जिससे इन दिनों समाज बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है। इसके दुष्परिणाम से चपेट में आया परिवार पूरी तरह से तबाह हो जाता है। ऐसे में पुलिसिया भाषा में कहें तो तम्बाकू मुजरिम से ज्यादा खतरनाक है। यह बातें विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखिलेश कुमार ने कही।

देश भर में गुरूवार 31 मई को विश्व तम्बाकू निषेध दिवस मनाया जा रहा है उसी कड़ी में कानपुर ग्वालटोली में भी आरोग्य धाम ने विश्व तंबाकू दिवस का आयोजन किया। जहां तम्बाकू के रूप में एक राक्षस का संहार करके लोगों को तम्बाकू छोड़ने की अपील कर उन्हें शपथ भी दिलायी। इस दौरान मुख्य अतिथि एसएसपी अखिलेश कुमार ने बताया कि तम्बाकू के कई दुष्परिणाम होते है।

जैसे कैंसर एक जानलेवा बीमारी है जो लोगों की जिंदगी को छोटा, खोखला और उनकी जमा पूंजी को खत्म कर रही हैं। आरोग्य धाम के इस सराहनीय कदम से कई लोगों ने अपनी ज़िंदगी को बचाया। उनकी इस पहल ऐसी ही आगे चलती रहे जिससे लोग तम्बाकू का सेवन न कर सकें। वहीं होम्योपैथिक फिजिशियन डाक्टर हेमंत मोहन ने बताया कि आज यहां तम्बाकू और कैंसर पदार्थों का जोरदार विरोध किया गया है और तंबाकू रूपी राक्षस का संहार कर लोगों को तम्बाकू छोड़ने के लिए शपथ दिलाई गई है।

क्योंकि तम्बाकू जो भी खायेगा वह मौत के मुंह मे जाएगा। इसके बचाव के लिए जो लोग आरोग्य धाम से इलाज करवाकर आज जिन्दगी जी रहे है उन्हें और चिकित्सकों को एसएसपी ने सम्मानित भी किया गया है। इस दौरान कैम्पस में एक निःशुल्क शिविर भी लगाया गया है।

सिगरेट का एक कश पांच मिनट कम कर देता है जिंदगी

विश्व तम्बाकू दिवस पर मानव प्रशिक्षण सेवा संस्थान द्वारा इंडियन आयल जीकेजी ग्रुप मयूर ग्रुप के सहयोग से इंडेन बाटलिंग प्लांट पनकी में तम्बाकू जानलेवा है आओ समझे और बचे कार्यक्रम का शुभारंभ इंडेन बाटलिंग प्लांट के डीजीएम सुनील कुमार प्रसाद ने किया। संस्था के अध्यक्ष लखन शुक्ला ने बताया तम्बाकू जानलेवा है तम्बाकू का सेवन नहीं करना चाहिये।

तम्बाकू में निकोटिन नामक तत्व होता है जो हमारे शरीर को नुकसान पंहुचाता है। सिगरेट का एक कश पांच मिनट की जिंदगी खत्म कर देता है। हमें तय करना होगा तम्बाकू या जिंदगी, प्रत्येक वर्ष लाखों लोग विश्व में तम्बाकू के सेवन से मौत के गाल में समा जाते हैं। इसी प्रकार रनिया स्थित कानपुर एडबिल्स प्रा लि फैक्ट्री में तम्बाकू या जिंदगी फैसला आपका नामक जागरूकता शिविर का शुभारम्भ मैनेजिंग डायरेक्टर मनोज गुप्ता ने किया।

मनोज गुप्ता ने बताया भारत में तम्बाकू लगभग 500 वर्ष पूर्व पुर्तगालियों द्वारा लाया गया सबसे पहले जहांगीर ने तम्बाकू पर टैक्स लगाया। तम्बाकू से 40 तरह के कैंसर तथा 25 तरह की बीमारियां होती हैं। इस अवसर पर लोगों को तम्बाकू का सेवन न करने हेतु शपथ भी दिलाई गयी।

एनसीसी कैडेट्स ने निकाली जागरूकता रैली
एनससी ग्रुप मुख्यालय के तत्वाधान में 17 यूपी गर्ल्स बटालियन द्वारा कैन्ट में वार्षिक प्रशिक्षण शिविर का आयोजन कर्नल एचएस सिरोही के निर्देशन में हुआ। जिसके अनतर्गत 468 कैडेट्स को ड्रिल, फाइरिंग, योगा, मैप रीडिंग, हथियार आदि का प्रशिक्षण दिया गया। इसके बाद तबांकू निषेध दिवस के अवसर पर एक वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन हआ।

प्रतियोगिता के बाद कैंट से 17 यूपी गर्ल्स बटालियन द्वारा एक रैली सामाजिक सेवा के अन्तर्गत निकाली गयी। जिसमें शहरवासियों को तम्बाकू निषेध, बेटी पढाओ-बेटी बचाओं, स्वच्छता, अंगदान, रक्तदान, सुगम यातायात के नियम आदि के प्रति जागरूक किया गया। इस रैली में 200 एनसीसी कैडटो के साथ एएनओ नीतू गौर व अन्य पीआई स्टाफ व यातायात निरीक्षक शिवसिंह ने प्रतिभाग किया। रैली का समापन नवीन मार्केट स्थित शिक्षक पार्क में किया गया।

विश्वविद्यालय में शिक्षकां व छात्रों ने ली शपथ
छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय परिसर स्थित इंस्टीट्यूट आफ हेल्थ साइंसेस में विश्व तम्बाकू निषेध दिवस के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान छात्रों शिक्षकों व कर्मचारियों को तम्बाकू पदार्थों का सेवन न करने की शपथ दिलायी गयी। इस अवसर पर छात्रों को तम्बाकू व उससे बने हुए पदार्थों के दुष्प्रभावों से भी अवगत करया गया। इस कार्यक्रम में विभाग के छात्र व छात्रायें, कोऑर्डिनेटर डा0 प्रवीन कटियार, शिक्षकगण, डा0 केके पाण्डेय, दिग्विजय शर्मा, सचिन पाल, शैलेन्द्र वर्मा आदि उपस्थित रहें। वहीं रोटरी क्लब त्रिमूर्ति के तत्वावधान में प्रैग्मा पब्लिक स्कूल के बच्चों ने साइकिल रैली निकाल तंबाकू न सेवन करने की लोगों से अपील की।

तम्बाकू उत्पादों का पुतला दहन

जनवादी अधिवक्ता एसोसिएशन के तत्वाधान में विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर तम्बाकू उत्पादों का पुतला दहन कचहरी स्थित शताब्दी द्वार पर किया गया। इस मौके पर अधिवक्ता रवीन्द्र शर्मा ने बताया कि पूरा विश्व पिछले 21 वर्षों से 31 मई को विश्व तम्बाकू दिवस के रूप में मनाता है। विभिन्न प्रकार के कैंसरों का प्रमुख कारण तम्बाकू ही है।

तम्बाकू उत्पादों के सेवन से प्रतिवर्ष 70 लाख लोगों की मौत होती है। उत्तर प्रदेश में तम्बाकू उत्पादों पर पूर्णतया प्रतिबंध है मगर पान मसाला कंपनियां तम्बाकू और मसाला अलग-अलग बेच कर नियमों का उल्लंघन कर रही है। ऐसे में एसोसिएशन तम्बाकू उत्पादों पर पूर्णतया प्रतिबंध लगाने की मांग करता है। इस अवसर पर अधिवक्ता समीर शुक्ला, सोनू पाण्डेय, प्रशांत सेंगर, नीलेश तिवारी, अजय शर्मा आदि मौजूद रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here