कानपुर : मुख्यमंत्री गंगा किनारे 5 जून को ‘प्लास्टिक फ्री रिवर थीम’ अभियान का करेंगे शुभारंभ

0
183

-कार्यक्रम को लेकर जिलाधिकारी ने सभी विभागों की बुलाई बैठक, तैयारियों का दौर शुरू
कानपुर, 30 मई । ‘विश्व पर्यावरण दिवस’ के मौके पर कानपुर जनपद से उत्तर प्रदेश में गंगा को स्वच्छ बनाने को ‘प्लास्टिक फ्री रिवर थीम’ कार्यक्रम का शुभारंभ होगा। कार्यक्रम की शुरूआत सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा की जाएगी। कार्यक्रम की तैयारियों व सफलता के लिए जिलाधिकारी ने सभी विभागों के अफसरों की बैठक बुलाई है।
जून माह की पांच तारीख को पूरा देश ‘विश्व पर्यावरण दिवस’ मनाएगा। इस दिन गंगा किनारे बसे कानपुर जनपद में मां गंगा को प्लास्टिक मुक्त बनाने व मोक्षदायिनी की निर्मला के लिए अभियान की शुरूआत की जाएगी। ‘प्लास्टिक फ्री रिवर थीम’ के नाम से शुरू होने वाले अभियान को लेकर जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह ने खाका खींचते हुए गुरूवार को सभी विभागों की बैठक बुलाई है।

बैठक में ‘विश्व पर्यावरण दिवस’ पर शुरू किये जाने वाले अभियान को अमलीजामा पहनाने के लिए तैयारियां तेज कर दी जाएगी। जिलाधिकारी से अभियान को लेकर हुई खास बातचीत में उन्होंने बताया, कानपुर जनपद उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा जनपद है और यहां से होकर मां गंगा गुजरती है। इस लिहाज से ही यहां से प्लास्टिक मुक्त अभियान चलाया जाना बहुत आवश्यक है।

इससे न सिर्फ गंगा नदी का ईको-सिस्टम बेहतर होगा, बल्कि शहर की सामान्य स्वच्छता में भी सुधार परिलक्षित होगा। इस अभियान की सफलता के लिए सभी विभागों से सुक्षाव व कार्य योजना भी मांगी गई है। विभागों की भूमिका को लेकर पूछे गये सवाल पर कहा, जब तक विभागीय अफसरों व कर्मियों को सहयोग नहीं होगा, तब तक किसी भी योजना को मूर्त रूप मिलना संभव नहीं है।

इसको लेकर 31 मई को कलेक्ट्रेट में बैठक बुलाई गई हैं। इस सम्बंध में समस्त विभागों को पत्र भेजा जा चुका है। इसके साथ ही जन सहभागिता का होना भी आवश्यक है। इसलिए समाजसेवी संगठनों के पदाधिकारियों व बुद्धजीवियों को भी बैठक में बुलाया गया है।
मुख्यमंत्री करेंगे अभियान का शुभारंभ
जिलाधिकारी ने बताया कि ‘प्लास्टिक फ्री रिवर थीम’ अभियान का शुभारंभ मुख्यमंत्री योगी आदित्नाथ द्वारा किया जाएगा। मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में जनपद आगमन को लेकर तैयारियां की जा रही हैं। हालांकि अभी कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से स्थिति स्पष्ट नहीं हो सकी है।

जिलाधिकारी ने बताया कि बैठक के बाद गंगा तट पर होने वाले इस कार्यक्रम का स्थान तय करते हुए सभी औपचारिकताओं की जिम्मेदारी का खाका खींच लिया जाएगा, ताकि इसमें किसी प्रकार की बाधा न आने पाए।
अन्य जनपदों के लिए बनेगी नजीर
जिलाधिकारी ने बताया कि कानपुर में गंगा किनारे इस अभियान की शुरूआत दूसरे जनपदों के लिए नजीर बनेगी। वह भी इससे सबक लेते हुए आगे कदम बढ़ाएंगे। गंगा किनारे प्लास्टिक के प्रयोग पर रोक लगाने से जनता भी इसके उपयोग में लाना कम कर देंगे। वहीं गंगा के आसपास प्लास्टिक पालीथीन रखने वालों के खिलाफ भी समय-समय पर जांच अभियान चलाया जाएगा और पकड़े जाने पर विधिक कार्यवाही की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here