पॉलीटेक्निक में बनाई गई अस्थाई जेल में पंहुचे एक दर्जन प्रदर्शनकारी

0
143

कानपुर, 27 मई । एलनंगज स्थित टेफ्को कालोनी को जिला प्रशासन भारी फोर्स के साथ हाईकोर्ट के आदेश पर कानपुर, 27 मई (हि.स.)। रविवार को तापमान शनिवार की अपेक्षा कम रहा लेकिन उमस भरी गर्मी से शहरवासी बिलबिला उठे। मौसम विभाग का कहना है कि वातावरण में नमी बढ़ी हुई है और सूरज की आग उगलती किरणों से सामान्य से अधिक गर्मी महसूस हुयी। इसके अलावा जिस तरह मौसम का मिजाज दिख रहा है उससे अगले दो दिनों तक भीषण धूल भरी आंधी व बारिश की संभावना है।

चन्द्रशेखर आजाद कृषि प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक डा. अनिरूद्ध दुबे ने बताया कि रविवार को आसमान साफ रहा और तापमान 43 डिग्री के पार पंहुच गया। इसके साथ ही वातावरण में कल की अपेक्षा नमी अधिक रही और शुष्क हवाएं इस कदर परेशान कर दीं कि लोग 45 डिग्री के पार जैसे गर्मी महसूस करने लगे। उच्च तापमान के चलते कम वायुदाब का क्षेत्र बन गया है और साथ ही नमी के चलते बादलों में टकराहट होगी।

जिससे आगामी दो दिनों तक मौसम का मिजाज एक बार फिर बदलेगा। इन दिनों बिजली गरजने व चमकने के साथ भीषण धूल भरी आंधी व तूफान आने की संभावना है। ऐसे में लोग सावधान रहें खासतौर पर सांयकाल, क्योंकि कम वायुदाब से सांयकाल ही हवाओं का बवंडर बनता है। कहा अभी गर्मी से लोगों को निजात नहीं मिलेगी। इसलिए घर से निकलने के पहले भरपूर मात्रा में पानी पीयें। साथ ही अपने शरीर के खुले हिस्सों को सलीके से ढक कर रखें ताकि गर्म हवाएं आपके शरीर में प्रवेश ना कर सकें।

डा. दुबे ने बताया कि जहां शनिवार को सुबह 10 बजे तक अधिकतम तापमान 35.5 डिग्री सेल्सियस रहा तो वहीं रविवार को 34 डिग्री रहा। इसके बाद दोपहर तक मौसम साफ होने व सूरज की तेज किरणों से अधिकतम तापमान 43.8 डिग्री दर्ज किया गया जो सामान्य से करीब तीन डिग्री अधिक रहा। तो वहीं न्यूनतम तापमान 25.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

बताया कि आज हवाओं की दिशायें बदल गयीं हैं और उत्तरी पश्चिमी की जगह पूर्वी हवाएं चल रहीं हैं, जिनकी रफ्तार 3.9 किलोमीटर प्रति घंटा रही। सुबह की आर्द्रता में छह फीसदी की की बढ़ोत्तरी के साथ 40 फीसदी दर्ज की गई। तो वहीं दोपहर की आर्द्रता में भी सात फीसदी की बढ़ोत्तरी के साथ 17 फीसदी रही।खाली करा रहा है। सुबह 11 बजे से शुरू हुई कार्यवाही से समाचार लिखे जाने तक प्रशासन ने एक दर्जन अवैध कब्जाधारियों को जो प्रदर्शन कर रहे थे उन्हें पॉलीटेक्निक में बनाई गई अस्थाई जेल भेज दिया है।

एक सप्ताह से संघर्ष कर रहे टेफ्को कालोनीवासी रविवार को जिला प्रशासन के सख्त रवैये को देखते हुए सहमें हुए हैं। जिला प्रशासन के अधिकारी बार-बार माइक से एलाउंस कर रहें हैं कि जल्द से जल्द कालोनी को खाली करें नहीं तो जेसीबी चालू करायी जाएगी। इसके बावजूद ज्यादातर लोग घर छोड़ने को तैयार नहीं है। प्रशासन अभी सख्त कार्यवाही के लिए इंतजार कर रहा है, पर इस दौरान कुछ लोग प्रदर्शन करने लगे। जिनको पुलिस ने तत्काल हिरासत में ले लिया और राजकीय पॉलीटेक्निक कालेज में बनी अस्थाई जेल भेज दिया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि ऐसे प्रदर्शनकारियों से निपटने के लिए पूरी तैयारी कर ली गई है।

इसके लिए पॉलीटेक्निक कालेज में करीब एक हजार लोगों को रखने की व्यवस्था की गई है। इनको वहां तक पंहुचाने के लिए आरटीओ से करीब पांच दर्जन से अधिक वाहन मंगाये गयें हैं। कहा फिलहाल अभी तक एक दर्जन लोगों को अस्थाई जेल भेजा जा चुका है और वहां पर खाने-पीने की पूरी व्यवस्था है।

जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि एक घंटे का और समय दिया गया है अगर इसके बावजूद भी अवैध कब्जेदार घरों पर दुबके रहते हैं तो पुलिसिया कार्यवाही शुरू होगी और सभी लोगों को अस्थाई जेल भेज कर पूरी कालोनी को खाली कराया जाएगा। इसके साथ ही नगर निगम के सैकड़ों कर्मचारी पत्थरबाजी की संभावनाओं को लेकर पूरे इलाके के पत्थर इकट्ठा कर वाहनों से दूसरी जगह भेज रहें हैं। वहीं दंगा नियंत्रण की टीम टियर गैस सहित असलहों से लैस बराबर गश्त कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here