प्रधानमंत्री ने दिल्ली- मेरठ एक्सप्रेस-वे का किया उद्घाटन

0
160

नई दिल्ली, 27 मई । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार सुबह दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के पहले चरण का उद्घाटन किया। इस मौके पर केंद्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग और पोत परिवहन मंत्री नितिन गडकरी भी उनके साथ मौजूद रहे। उद्घाटन के बाद प्रधानमंत्री ने 06 किलोमीटर का रोड शो भी किया और फिर ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे का उद्घाटन करने के लिए बागपत के लिए उड़ान भर दिए।

इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के मॉडल को भी देखा। 14 लेन का यह एक्सप्रेस हाई वे दिल्ली के सराय काले खां से यूपी गेट तक का है। इस एक्सप्रेस-वे को वाहनों के दबाव के कारण पहले से ही खोला जा चुका है, जबकि इसके बाकी दो हिस्सों पर अभी काम चल रहा है। इसके शुरू होने से अब मेरठ से दिल्ली के बीच का सफर सिर्फ 45 मिनट में तय किया जा सकेगा। इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी गाड़ी की छत से बाहर आकर करीब 06 किमी लंबा रोड शो किया। प्रधानमंत्री का यह रोड शो निजामुद्दीन ब्रिज से गाजीपुर तक चला। रोड शो के दौरान सड़क के दोनों ओर प्रशंसक और भाजपा कार्यकर्ता खड़े थे और मोदी-मोदी का नारा लगा रहे थे। प्रधानमंत्री मोदी खुले वाहन से पटपड़गंज पुल तक गए।

इस दौरान उन्होंने निजामुद्दीन-रिंग रोड जंक्शन से पटपड़गंज पुल तक के हिस्से का कार से मुआयना भी किया। रोड शो के दौरान दिन में भी एनएच-9 पर लाइटें जली हुई हैं। बताया जा रहा है कि यह सब जांच के मद्देनजर किया गया, ताकि लाइटों-बिजली संबंधी खामियों को दूर किया जा सके। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के सबसे हाईटेक ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे को देश को समर्पित करने के लिए बागपत रवाना हुए। ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे 11,000 हज़ार करोड़ रुपये की लागत से तैयार हुआ है। वहां प्रधानमंत्री देश को 135 किमी लंबे ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे की सौगात देंगे।

यह देश का पहला स्मार्ट और सोलर एनर्जी से लैस एक्सप्रेस-वे है। प्रधानमंत्री एक्सप्रेस-वे पर हरियाणा के सोनीपत स्थित सेवली टोल प्लाजा से रोड शो करते हुए खेकड़ा स्टेडियम में होने वाली जनसभा में पहुंचेंगे। यहां करीब सवा घंटे तक मोदी लोगों के बीच रहेंगे। इस एक्सप्रेस-वे पर 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गाड़ी चलाने की अनुमति होगी। यह एक्सप्रेस-वे 6 लेन का है। दावा किया जा रहा है कि इसके शुरू होने से दिल्ली में 41 फीसदी तक ट्रैफिक जाम और 27 प्रतिशत तक प्रदूषण कम होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here