कानपुर : जन्म से तीसरे दिन बच्चे की थाईराइड जांच आवश्यक

0
121

कानपुर, 26 मई । बच्चो में शारीरिक एवं मानसिक विकास में अवरोध का एक महत्वपूर्ण कारण थाईराइड है। जिसकी जानकारी काफी देर से हो पाती है इसका दूरगामी दुष्प्रभाव पडता है। ऐसे में हर बच्चे का जन्म से तीसरे दिन तक हर हाल थाईराइड की जांच करा लेनी चाहिये। यह बातें मीडिया से मुखातिब होते डा. अनुराग बाजपेयी कहीं।

विश्व थाईराइड सप्ताह के उपलक्ष्य में ग्रो इंडिया के महासचिव एवं बाल हॉर्मोन विशेषज्ञ डा. अनुराग बाजपेयी ने एक होटल में कार्यक्रम का आयोजन किया। इस दौरान मीडिया से मुखातिब होते हुए डा. बाजपेयी ने कहा कि थाईराइड हार्मोन शारीरिक एवं मानसिक विकास को नियंत्रित करता है और बच्चों में थाईराइड समस्या का पता चलना अति आवश्यक है। ऐसे में हर माता पिता को इस बात का ख्याल रखना चाहिये कि बच्चे का जन्म होने के बाद से तीन दिनों के अंदर उसकी थाईराइड जांच अवश्य करा लें।

डा. रश्मि कपूर ने बताया बच्चों में थाईराइड समस्याएं आम है, लेकिन इसमें लापरवाही बरतना सबसे खतरनाक साबित होता है। कहा जब यह रोग में बदल जाता है तो गंभीर स्थित ले लेता है। तथा बच्चों के जन्म के तीसरे दिन इसकी जांच होनी चाहिये साथ ही 14 दिन के अन्दर उपचार शुरू होना चाहिये। डा. एमएम मैथानी ने कहा विगत कुछ वर्षों से थाईराइड रोगों के विषय में जागरूकता बढ रही है एवं इस दिशा में और प्रयासों की आवश्यकता है।

डा. आरएन चैरसिया ने कहा कि सभी बच्चों की जन्म पर थाईराइड जांच के विषय में जागरूकता बढाना आवश्यक है। वहीं डा. यूथिका शर्मा ने बताया कि गर्भावस्था में थाईराइड समस्या का मां एवं बच्चे दोनों पर बुरा प्रभाव पडता है। इस लिए हर गर्भवती महिला में भी थाईराइड का परीक्षण होना चाहिये साथ ही लडकियों में मासिक धर्म की अनियमितता थाईराइड का लक्षण हो सकता है। इसके साथ ही इस दौरान थाईराइड से पीड़ित बच्चों के लिए निःशुल्क कैंप का भी आयोजन किया गया।

सेहत व स्वास्थ्य के बीच अंतर भरने का लक्ष्य
सेहत जरूरी होती है लेकिन सेहतमंद खाना अक्सर स्वादिष्ट नहीं होता। ब्रिटानिया ंइंडस्ट्रीय ने न्यूट्रीच्वॉइस ओट्स चॉकलेट एंड आमंड कूकीज को जो सेहत से भरपूर है बाजार में उतारा है। यह पूर्वधाराणा को तोडेगा कि सेहतमंद खाना स्वादिष्ट नहीं हो सकता। एक आयोजन के दौरान इस सम्बन्ध में अली हैरिस शेरे ने कहा कि एक अच्छी च्वाइस लंबा रास्ता तय कर सकती है लेकिन अक्सर सेहतमंद आहार लेने की दिशा में पहला कदम उठाना सबसे मुश्किल होता है।

स्वादिष्ट चाकलेट और साबुत बादाम के साथ यह आल न्यू ओट्स अब स्वाद एवं सेहत का परफेक्ट संयोजन है और ओट लेना शुरू करने का एक बेहतरीन कारण भी। कहा न्यूट्रीच्वॉइस ओटस चॉकलेट एंड आमंड कूक्रीज द्वारा एक नये कैम्पेन की शुरूआत की जायेगी। जिसे टेलीविजन व सोशल मीडिया पर दिखाया जायेगा। बताय कि यह ब्रांड देश के प्रीमियम हेल्थ बिस्कुट्स पोर्टफोलियो के अंदर तीसरा सबसे बडा सब ब्रांड है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here