तेरह लाख हड़पने के लिए बेरहमी से कर डाला पिता-पुत्र का कत्ल

0
143

मेरठ, 25 मई। सरधना क्षेत्र में मिले दो अज्ञात शवों की शिनाख्त होने के तीसरे ही दिन पुलिस ने इस सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा कर दिया। पुलिस ने तीन हत्यारोपियों को गिरफ्तार करते हुए दावा किया कि पिता-पुत्र की हत्या 13 लाख की रकम हड़पने के लिए की गई थी। एसएसपी राजेश पांडे और एसपी देहात राजेश कुमार ने बताया कि बीती 29 अप्रैल को छबड़िया महादेव चैराहे पर मिले शवों की शिनाख्त रहतू (55) व उसके पुत्र मंगता (30) निवासीगण पिठोलकर के रूप में हुई।

गांव में जानकारी करने पर पता चला कि तीन वर्ष पूर्व रहतू ने अपनी करीब ढाई बीघे जमीन गांव के निवासी रूपचंद के माध्यम से 13 लाख रूपये में हसनैन को बेची थी। यह तय हुआ था कि हसनैन इस रकम की एफडी बनवाकर रहतू के खाते में जमा कराएगा। लेकिन, हसनैन और रूपचंद ने रहतू के साथ धोखाधड़ी करते हुए मात्र 13 हजार की एफडी ही उसके खाते में जमा कराई। एफडी का समय अब पूरा होने वाला था और रहतू आरोपियों से अपनी एफडी तुड़वाकर रकम वापस देने का दबाव बना रहा था। इसी के चलते बीती 28 अप्रैल को योजना के तहत रूपचंद ने रहतू व उसके पुत्र मंगता को अपने घर बुलाया। बाप-बेटे को खाने में नशीली दवाई देकर रात को रूपचंद, हसनैन और गांव के निवासी जितेन्द्र उर्फ जीतू ने रहतू व मंगता का सिर दीवार में पटक-पटक कर और केबिल के तार से गला घोंटकर उनकी हत्या कर दी। बाद में शवों को बोरी में भरकर बाइकों से ले जाकर छबड़िया महादेव चैराहे पर फेंक दिया। एसपी देहात ने बताया कि तीनों आरोपियों को दबोचकर उनके पास से आला-ए-कत्ल तार आदि बरामद किए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here