जहरीली शराब की घटना को मुख्यमंत्री ने लिया संज्ञान, दो-दो लाख की दी आर्थिक मदद

0
300

कानपुर, 19 मई । सचेंडी थानाक्षेत्र में जहरीली शराब की घटना को मुख्यमंत्री ने गंभीरता से लिया। इसके साथ ही जिलाधिकारी को तत्काल मृतकों के परिजनों और पीड़ितों को राहत देने का फरमान सुनाया। जिसके बाद जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री राहत कोष से घटना में चार मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख और करीब आधा दर्जन अस्पताल में जीवन मौत से संघर्ष कर रहे पीड़ितों को 50-50 हजार रूपए की आर्थिक मदद उपलब्ध करा दी।

सचेंडी थानाक्षेत्र के दूलगांव में बीती रात गांव के लोगों ने एक देशी शराब ठेके से शराब खरीदकर पी। जिसके बाद देर रात एक दर्जन से अधिक लोगों की तबियत खराब हो गई और परिजनों ने नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया। जहां पर डाक्टरों ने हैलट अस्पताल रेफर कर दिया। हैलट अस्पताल में एक सेवानिवृत्त दरोगा सहित चार लोगों की इलाज के दौरान शनिवार को मौत हो गई। जबकि अभी भी आधा दर्जन लोग जीवन मौत से संघर्ष कर रहें हैं।

हालांकि चार लोगों को इलाज कर उन्हे घर भेज दिया गया है। जहरीली शराब पीने से हुई मौतों की खबर पाकर जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह सहित आलाधिकारी हैलट अस्पताल पहुंचे और जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने घटना को गंभीरता से लेते हुए जिलाधिकारी को तत्काल निर्देश दिया कि मृतकों को दो-दो लाख व पीड़ितों को 50-50 हजार रूपए की आर्थिक मदद की जाये। इसके साथ ही पूरे मामले की जांच रिपोर्ट तीन दिनों के अंदर उपलब्ध कराई जाये।

जिलाधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर जहरीली शराब की घटना से मृतकों के परिजनों व पीड़ितों को आर्थिक मदद उपलब्ध करा दी गई है और पूरी घटना की जांच के लिए एक विशेष टीम का गठन कर दिया है। टीम की रिर्पोट आने के बाद दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं हैलट अस्पताल के सीएमएस डा. आरसी गुप्ता ने बताया कि चार लोग पूरी तरह से ठीक हो गयें हैं और उन्हे घर भेज दिया गया है। हालांकि अभी भी भर्ती छह लोगों की हालत चिंताजनक बनी हुई है। इंस्पेक्टर ने बताया कि घटना में चारों मृतकों का शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और परिजनों की तहरीर पर शराब ठेकेदार के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

भाजपा प्रतिनिधियों ने जताया दुख

कानपुर में शराब पीने से हुई मौतों की घटना की जानकारी पर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश नेतृत्व ने तत्काल जनप्रतिनिधियों को घटनास्थल और पीड़ित परिजनों से मुलाकात करने के निर्देश दिये। प्रदेश नेतृत्व के निर्देश पर विधायक अभिजीत सिंह सांगा, जिलाध्यक्ष ग्रामीण सुशील कटियार, विधायक कमल रानी वरूण, विधायक प्रतिभा शुक्ला, विधायक नीलिमा कटियार, सांसद देवेन्द्र सिंह भोले के अलावा कानपुर-बुन्देलखण्ड के क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेन्द्र सिंह व महामंत्री ओमप्रकाश ने घटना पर दुख जताते हुए पीड़ित परिजनों को ढाढस बंधाया और मृतकों की आत्मा की शांति के लिए दुआएं की। जिलाध्यक्ष सुशील कटियार ने बताया कि पार्टी की ओर जांच रिपोर्ट तैयार की जा रही है और जल्द ही रिर्पोट को प्रदेश नेतृत्व को सौंप दिया जाएगा। इसके साथ ही इस घटना के जिम्मेदारों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के लिए भी शासन को पत्र लिखा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here