कानपुर: रमजान के पवित्र पर्व पर अधिकारी कर रहें भेदभाव : विधायक

0
268

कानपुर, 16 मई। मुस्लिम क्षेत्रों में व्याप्त गंदगी और कूड़ा उठान न होने व बिजली आदि की समस्याओं को लेकर पर समाजवादी पार्टी ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर अपना विरोध जताया। सपा विधायक अमिताभ बाजपेयी ने कहा कि कल से रमजान शुरू होने के बावजूद अभी तक सफाई पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जिससे साफ जाहिर होता है कि रमजान के पवित्र पर्व पर अधिकारी भेदभाव कर रहें हैं। इसके साथ ही चौराहों पर अतिक्रमण हटाने के नाम पर भी मनमानी का आरोप लगाया गया।

आर्य नगर से सपा विधायक अमिताभ बाजपेयी, नगर अध्यक्ष अब्दुल मुईन खां आदि ने बुधवार को जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह से मुलाकात करने कलेक्ट्रेट पहुंचे। लेकिन जिलाधिकारी बाहर होने चलते अपर जिलाधिकारी सतीश पाल से मिलकर सपाइयों ने रमजान को लेकर शिकायतों का अंबार लगा दिया। विधायक ने आरोप लगाया कि रमजान के बावजूद मुस्लिम क्षेत्रों की सफाई व्यवस्था पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। शहर के मुस्लिम बहुल इलाकों में भीषण गंदगी और कूड़े के ढेर लगे हुए है।

सीवरों की सफाई न होने से सीवर लाइनें चोक पड़ी हुई हैं। वहीं शहर में भीषण बिजली कटौती भी की जा रही है। विधायक ने अपर जिलाधिकारी से शिकायत कर कहा कि शुक्रवार को हम लोग समय लेने के बावजूद केस्को एमडी सौम्या अग्रवाल से मिलने के लिए दो घंटे बैठना पड़ा। जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि केस्को रमजान के माह में 24 घंटे बिजली देने के प्रति कितना गंभीर हैं। आरोप लगाया कि बिजली कनेक्शन देने के नाम पर व छापेमारी के नाम पर केस्को अधिकारी व कर्मचारी उगाही कर रहें हैं। कई जगहों पर भूमिगत केबिल डालने में अनियमितता बरती जा रही है।

इसके साथ ही विधायक ने अघोषित कटौती और फॉल्टों को रमजान से पहले ठीक कराने की मांग की है। सपा जिलाध्यक्ष अब्दुल मुईन खां ने कहा कि रमजान के महीने में शहर को 24 घंटे बिजली दी जाए। जिससे कि तरावी, अफ्तार व सहरी में किसी तरह की मुश्किल न आने पाए। कहा, रमजान मुबारक का महीना शुरू होने जा रहा है इस पूरे महीने में मुस्लिम समुदाय के लोग पूरे महीने अल्लाह की इबादत करते है और लोग खुद को पाक रखते है।

जिसके चलते पूरे शहर में नगर निगम द्वारा सफाई अभियान के तहत मुस्लिम क्षेत्रों में साफ सफाई का दावा किया जा रहा है, लेकिन वास्तविकता में कुछ नहीं किया जा रहा है। इसके साथ ही सपा नेताओं ने चौराहों पर अतिक्रमण हटाने के नाम पर भी पुलिस की मनमानी का आरोप लगाया गया। विधायक अमिताभ बाजपेयी ने कहा कि चौराहों से अतिक्रमण साफ हो लेकिन जिन्हें हटाया जाए, उन्हें अपने ठेले लगाने की जगह भी उपलब्ध करायी जाए।

करीब एक घंटे तक बैठक के बाद अपर जिलाधिकारी ने आश्वासन दिया कि कल रमजान शुरू होने से पहले समस्याओं का युद्व स्तर पर अभियान चलाकर खत्म कर दिया जाएगा। इसके साथ ही दोषी कर्मचारियों व अधिकारियों को चिन्हित किया जाएगा। इस दौरान केके शुक्ला, कुतुबुद्दीन, मिंटू यादव, कमलेश यादव, अनिल सोनकर, संजय सिंह, अनिल सोनकर और कुलदीप यादव आदि मौजूद रहें।

खराब पड़ी हैं लाइटें
पूर्व नगर अध्यक्ष ने हाजी फजल महमूद ने कहा कि नगर निगम की उदासीनता के कारण मुस्लिम क्षेत्र की नालियों में सिल्ट भरी है और कूडे के ढेर लगे हैं, सडकों पर पानी भरा है। क्षेत्र और मस्जिदों के आस पास हैण्ड पंप खराब पडे हैं। एलईडी लाइटें 40 प्रतिशत भी अभी तक बदली नहीं जा सकी और अधिकतर लाइटे खराब पड़ी हैं।

समस्याये ज्यों की त्यों ही है और इसके कारण जनता में प्रशासन की प्रति भारी आक्रोश है। कहा क्षेत्र में नालियों की सिल्ट निकाल प्रतिदिन सफाई सुनिश्चित हो तथा कूडे का निस्तारण किया जाये, हैण्डपंपों को ठीक किया जाये, लाइटें, तार ठीक कराने के साथ शाम सात बजे से सुबह सात बजे तक बिजली की कटौती से मुक्त किया जाये।

विरोध में सड़क पर उतर सकते हैं सपाई
नगर अध्यक्ष ने कहा कि 17 मई से रमज़ान शुरू हो रहा है और शहर में बिजली का संकट सभी क्षेत्रों में मंडरा रहा है तो वहीं बस्तियों में 90 फीसदी खंभे पतली चादर के बने हुए हैं तार लटक रहे है जो कभी भी किसी के लिए खतरा बन सकते हैं। बिजली की आंख मिचौली से शहर परेशान है मीटर रीडिंग द्वारा अवैध वसूली की जाती है। जिससे उपभोक्ता परेशान है समाजवादी पार्टी इस बात पर गहरी चिंता व्यक्त की है।

कहा कि रमजान के पर्व को लेकर प्रदेश सरकार ने व्यवस्थाओं को लेकर सख्त आदेश दिया है। लेकिन अधिकारी सुनने को तैयार नहीं है और खासकर नगर निगम और बिजली विभाग तो मुस्लिम क्षेत्रों में काम ही करने को तैयार नहीं है। कहा, हमारी मांग है कि बिजली सप्लाई बंद न हो, उपभोक्ताओं का उत्पीड़न न हो रमज़ान में तरावीह, सहरी व इफ्तार के समय शहर को पर्याप्त बिजली दी जाए। इसके बाद भी मांगो को नहीं माना गया सपा बाध्य होकर सड़क पर विरोध दर्ज जता सरकार का ध्यान खींचने के लिए बाध्य होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here