हमीरपुर:पीएचसी बंद मिलने पर मरीजों ने किया हंगामा, डीएम ने दिये जांच के निर्देश

0
125

हमीरपुर, 15 मई । उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में मंगलवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में पूरे दिन ताला पड़ा रहा। इलाज कराने आये तमाम मरीज गर्मी से बेहाल हो गये। मरीजों के तीमारदारों ने अस्पताल में हंगामा भी किया। इस मामले को लेकर जिलाधिकारी आरपी पाण्डेय ने सीएमओ को जांच करने के निर्देश दिये हैं।

सुमेरपुर क्षेत्र के विदोखर पुरई गांव में नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र संचालित (पीएचसी) है। इस अस्पताल में कोई चिकित्सक नहीं रहता है। हाल में ही इस गांव में डेंगू बुखार से एक छात्रा समेत दो लोगों की मौत हो चुकी है, फिर भी स्वास्थ्य विभाग की न तो कोई टीम गांव पहुंची और न ही गांव के इस अस्पताल को सही तरीके से संचालित किया जा रहा है। मंगलवार को पूरे दिन इस अस्पताल में ताला पड़ा रहा, जिससे इलाज कराने के लिये अस्पताल गये मरीज बेहाल रहे। घंटों इंतजार के बाद भी अस्पताल नहीं खोला गया। इससे मरीजों के तीमारदारों ने हंगामा किया। यहां तैनात डॉक्टर और एलटी ड्यूटी से नदारत पाये गये। गांव के सोनू सिंह, रणधीर सिंह. सुखदेवी. महेश्वरी दीन ने बताया कि इलाज के लिये सरकारी अस्पताल के बाहर कई घंटे तक डाक्टरों का इंतजार करते रहे, मगर कोई भी अस्पताल नहीं आया।

अस्पताल में ताला पड़ा रहा। अस्पताल में नियुक्त डॉ. अमित यादव सुमेरपुर कस्बे में दिन भर ड्यूटी करते रहे। डॉ. अमित ने बताया कि प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. रामऔतार ने उन्हें इमरजेंसी ड्यूटी पर लगा रखा है। इसीलिये मूल तैनाती स्थान पर नहीं जा पा रहे है। उनका कहना है कि एलटी जरूरी काम से बाहर गया है, जिसके कारण अस्पताल में ताला पड़ा रहा। सुमेरपुर क्षेत्र के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. रामऔतार ने बताया कि वह मीटिंग में शामिल होने के लिये लखनऊ में हैं। अस्पताल में ताला क्यों पड़ा है, इसका जवाब सीएमओ देंगे। जिलाधिकारी आरपी पाण्डेय ने बताया कि इस मामले की जांच कराकर सख्त एक्शन लिया जायेगा। गांव में डेंगू बुखार से हुई मौतों के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम अभी तक गांव क्यों नहीं पहुंची इसमें भी कार्यवाही की जायेगी। बुधवार को डाक्टरों की टीम भिजवाकर बीमार लोगों का इलाज करवाया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here