कर्नाटक में बनेगी भाजपा की सरकार, कैराना व नूरपुर में होगी जीत : अशोक बाजपेयी

0
131

कानपुर, 14 मई । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के नेतृत्व भारतीय जनता पार्टी का चुनावी अश्वमेध रूकने वाला नहीं है। जिसके चलते कर्नाटक में भी 15 मई को भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनने जा रही है। हालांकि वहां की कांग्रेस सरकार ने दोबारा सरकार बनाने के लिए बहुत कोशिश की और यहां तक कि मंत्रियों ने रूपए भी बाटें। लेकिन वहां की जनता ने सबका साथ सबका विकास की नीति पर चलने वाली भाजपा पर अपनी मुहर लगा दी। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश की कैराना लोकसभा सीट और नूरपुर विधानसभा सीट पर हो रहे उप चुनाव में भी दोबारा कमल खिलेगा। यह बातें खबरनबीसों से मुखातिब होते हुए भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा सांसद अशोक बाजपेयी ने कही।
समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता रहे व वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी से चुने गये राज्यसभा सांसद अशोक बाजपेयी सांसद बनने के बाद पहली बार सोमवार को कानपुर आये। कानपुर आगमन पर पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उनका जगह-जगह भव्य स्वागत किया। कैंट स्थित पंडित उपवन में उन्होंने सबसे पहले कार्यकर्ताओं को संबोधित किया और कहा कि सिर्फ केन्द्र और प्रदेश सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को घर-घर तक पहुंचाने का काम करें, बाकी का काम जनता खुद अपना मतदान कर विपक्ष का कर देगी। इसके बाद सांसद अशोक बाजपेयी ने खबरनबीसों से मुखातिब हुये। कहा कि कर्नाटक के लोग कांग्रेस की सरकार से बहुत पीड़ित थे। किसानों द्वारा आत्महत्या करने के सर्वाधिक मामले उसी राज्य में हुए हैं। कांग्रेस की सरकार ने सत्ता का बहुत दुरुपयोग किया यहां तक कि उनके मंत्रियों ने पैसे बाटें। लेकिन वहां की जनता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार की विकासपरक योजनाओं को लेकर काफी उत्साहित दिखे और बदलाव का मन बना कराकर कमल पर मतदान कर दिया। जिससे हम पूरी तरह से आश्वस्त हैं कि कर्नाटक में 15 मई की शाम चुनाव परिणामों के बाद अगली सरकार भाजपा की ही बनेगी। जब पूछा गया कि चुनाव सर्वेक्षण त्रिशंकु की ओर इशारा कर रहें हैं तो हंसते हुए कहा कि सर्वेक्षण यह भी तो कह रहें हैं कि भाजपा सबसे बड़ी पार्टी उभरकर सामने आयेगी। हालांकि हम लोग सर्वेक्षण पर विश्वास नहीं रखते वहां की जनता की जो दर्द उभरकर सामने आया है उससे भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनेगी। उन्होंने बताया कि कैराना लोकसभा सीट के उप चुनाव में पार्टी प्रत्याशी और दिवंगत सांसद हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह और नूरपुर विधानसभा सीट से दिवंगत विधायक लोकेन्द्र सिंह की पत्नी अवनी सिंह भारी मतों से जीत दर्ज कर एक बार फिर कमल को खिलाने का काम करेंगी। इस दौरान विधायक नीलिमा कटियार, जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र मैथानी, सुनील बजाज, अजय अग्निहोत्री, सत्येन्द्र नाथ पाण्डेय, प्रमोद विश्वकर्मा, राहुल सिंह चंदेल सहित सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहें।
स्वामी प्रसाद का बयान पार्टी का नहीं
अशोक बाजपेयी ने प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य द्वारा जिन्ना पर दिये गए बयान पर कहा कि यह उनका व्यक्तिगत मामला है। पार्टी से इसका कोई लेना देना नहीं है, क्योंकि हमारा देश लोकतांत्रिक देश है सबको अपना पक्ष रखने का बराबर अधिकार है। दलितों के घर पर भोजन के सवाल पर उन्होंने कहा कि बीजेपी दलितों को रिझाने के लिए उनके घर भोजन नहीं कर रही है बल्कि उनको सबका साथ सबका विकास के तहत आगे बढाने का काम कर रही है। विपक्षी पार्टियों पर हमला बोलते हुए कहा कि यह लोग जनता के मूड को अच्छी तरह से भांप लिये हैं जिससे बौखलाहट में अनर्गल बयानबाजी की जा रही है।
मौकापरस्त गठबंधन नहीं होगा कामयाब
राज्यसभा सांसद ने 2019 के लोकसभा चुनाव के बारे में बताया कि समाजवादी और बहुजन समाजवादी पार्टी का गठबंधन मौकापरस्त है। इस गठबंधन से बीजेपी को कोई नुकसान नहीं होगा क्योंकि ये लोग ढेर सारे शून्य मिलकर कोई बड़ा आंकड़ा नहीं बना पाएंगे और जीत बीजेपी की ही होगी। मजाकिया लहजे में कहा कि कैराना और नूरपुर के चुनाव में ही आप लोग देख लीजिये प्रत्याशी किसी का और सिंबल किसी का। जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह लोग भाजपा की विकास परक नीतियों से किस कदर घबराये हुए हैं। कहा कि देश और प्रदेश की जनता भली भांति समझ चुकी है कि जातिवाद और धार्मिक मुद्दों से देश का भला होने वाला नहीं है। ऐसे में जनता के सामने भाजपा के अलावा कोई विकल्प नहीं है और जनता का आर्शीवाद पार्टी को बराबर मिल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here