कानपुर:अव्यवस्थाओं की भेंट चढ़ा कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन, राजबब्बर ने मंच छोड़ने की दी धमकी

0
686

कानपुर, 12 मई। देश में एक बार फिर से कांग्रेस राज स्थापित करने के लिये पार्टी कार्यकर्ता सम्मेलन कर रही है। जिसकी शुरूआत उत्तर प्रदेश में कानपुर नगर से हुई। लेकिन कार्यकर्ता नेतृत्व को अपना चेहरा दिखाने में धक्का मुक्की करने लगे। मामला यहां तक पहुंच गया कि कार्यकर्ताओं में जूतम पैजार हो गई। यह देख प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने कुछ देर के लिए माथा पकड़कर बैठ गये और फिर माइक संभालकर मंच छोड़ने की धमकी दे दी। जिसके बाद कार्यकर्ता किसी तरह से शांत हुये।

कांग्रेस पार्टी अपने मतदाताओं को फिर से पार्टी में जोड़ने के लिए पूरे देश में कार्यकर्ता कार्यकर्ता सम्मेलन कर रही है। इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश में शनिवार को कानपुर से शुरूआत हुई। लेकिन कानपुर कांग्रेस पार्टी द्वारा किया गया कार्यकर्त्ता सम्मलेन अव्यवस्था की भेंट चढ़ गया।

कार्यकर्ताओं में आपसी मतभेद होने के चलते ऑडिटोरियम में धक्कामुक्की का माहौल हो गया। प्रदेश अध्यक्ष और राष्ट्रीय महासचिव के मना करने पर भी कार्यकर्ता मानने को तैयार नहीं थे। जिसके चलते प्रदेश अध्यक्ष को मंच से छोड़ने की धमकी तक दे डाली। यहां तक जब कार्यकर्ता आपस में जमकर भिड़े हुए थे तो प्रदेश अध्यक्ष माथा पकड़कर कुछ देर के लिए बैठ गये। बताते चलें शनिवार को कानपुर के रागेंद्र स्वरूप पार्क में कांग्रेस पार्टी के द्वारा कार्यकर्त्ता सम्म्मेलन किया गया।

जिसमे मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय महासचिव गुलाम नवी आजाद और प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर मौजूद थे। कांग्रेस पार्टी के कानपुर महानगर के सभी नेता और कार्यकर्ताओं ने भी इस सम्मलेन में हिस्सेदारी दी। देखते ही देखते अचानक कार्यकर्ताओं में अचानक रोष व्याप्त हो गया और वो आपस में ही बहस करने लगे। बहस इस कदर बड़ गई की कार्यकर्त्ता जूता लात में आमादा हो गये।

कुछ कार्यकर्ता मंच पर चढ़ने की कोशिश करने लगे। प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर के खासा मना करने के बाद भी कार्यकर्ता शांत नहीं हुये और नारे बाजी करते रहे। इस दृश्य ने कांग्रेस पार्टी की छवि पर वार किया है। हालांकि बाद में सब कुछ सामान्य होने पर प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने इस हंगामे को विरोधियों की साजिश बताकर कार्यकर्ताओं के उपद्रव का बचाव किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here