एटा ;लूट की 45.50 लाख नकदी सहित 5 लुटेरे गिरफ्तार

0
204

एटा, 12 मई । प्रदेश की एटा पुलिस ने जिले में बीते 5 मई को हुई लूट के 5 शातिर लुटेरों को मुठभेड़ के बाद 45.50 लाख की नकदी, 5 तमंचे व लूट में प्रयुक्त बोलेरो सहित गिरफ्तार किया है। इस खुलासे पर डीजीपी द्वारा 50 हजार व एडीजे आगरा द्वारा 25 हजार का इनाम दिया गया है।

एसएसपी अखिलेश चौरसिया ने इस लूटकांड का खुलासा करते हुए बताया कि जिले के अलीगंज कोतवाली क्षेत्र में बीते 5 मई को सराय अगहत के गल्ला व्यवसाई सचिन यादव पुत्र सुनील कुमार निवासी उनासी, मेरापुर, फरूखाबाद व उसके साथी विकास पुत्र रमेशचंद्र निवासी विठूर, कानपुर से दिल्ली से गल्ला बेचकर आते समय सुबह करीब 6.30 बजे गांव हरसिंगपुर के समीप बोलेरो सवार लुटेरों ने 45.50 लाख की नकदी लूटी थी।

इस बड़ी लूट को चुनौती के रूप में लेते हुए एसएसपी ने अलीगंज पुलिस के साथ जैथरा, कोतवाली देहात के प्रभारी, स्वाट टीम व सर्विलांस टीम को लगाया, जिनके सम्मिलित प्रयास से शुक्रवार की रात करीब 11बजे मुठभेड़ के बाद इस लूट के 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे लूटी गयी 45.50 लाख नकदी, 5 तमंचे व लूट में प्रयुक्त बोलेरो बरामद की है।
एसएसपी के अनुसार यह लूट व्यापारी के यहां 10 वर्ष से कार्यरत मुनीम हरदीप पुत्र नैम सिंह निवासी ग्राम उनासी, मेरापुर, फरूखाबाद की साजिश से हुई।

हरदीप ने इस लूट के मास्टरमाइण्ड अपने बहिनोई मुन्ना उर्फ चंद्रमोहन पुत्र नाहर सिंह निवासी किनौड़ी खैराबाद, थाना जैथरा को व्यापारी के दिल्ली जाने तथा वहां से माल बेचकर वापस आने की पल-पल की सूचनाएं दीं। जबकि मुन्ना ने अपने साथी गांव के ही सीतल उर्फ सत्येन्द्र यादव पुत्र अनारसिंह व अलीगंज के फतेहपुर निवासी देवेन्द्र पुत्र सौदान सिंह तथा बंटी उर्फ संदीप पुत्र कायम सिंह निवासी पुराहार अलीगंज के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम दिया। इनमें से बंटी एक अन्य मामले में फरूखाबाद न्यायालय में समर्पण कर पहले से जेल जा चुका है।

सामने आया है कि वे इस लूट की योजना काफी दिनों से बना रहे थे। मुनीम के माध्यम से व्यापारी की गतिविधियां जानने के बाद उसकी कई बार रैकिंग भी की गयी थी। खुलासे के बाद सभी हैरान हैं। आरोप है कि इसी लूट को अंजाम देने के लिए लूट में प्रयुक्त बोलेरो बीते 16 अप्रेल को मैनपुरी जनपद से चुराई गयी। उस पर फर्जी नंबर प्लेट भी कन्नौज की एक बोलेरो का ही डाला गया। बदमाशों का इरादा था कि इस नंबर की आड़ में पुलिस दूसरी बोलेरो के पीछे लग जाएगी।

आरोपी देवेन्द्र व राजीव पर वर्तमान विधायक सत्यपाल सिंह राठौर का हाथ बताया जा रहा है। आमजन में इस बावत चर्चाओं का बाजार गर्म है। हालांकि एसएसपी ने इस आरोप का खंडन किया है। उस पर फरूखाबाद, एटा, अलीगंज, आगरा, नैनीताल, मैनपुरी, जयपुर राजस्थान आदि में लूट आदि के 19 मामले चल रहे हैं। जबकि देवेन्द्र पर 3, मुन्नायादव व सत्येन्द्र पर 1-1 एक्साइज एक्ट का मुकदमा दर्ज है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here